छत्तीसगढ़ के आइएएस एलेक्स पाल मेनन ने देश की न्यायिक व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए देश की न्यायिक व्यवस्था को पक्षपातपूर्ण बताया हैं.

एलेक्स ने फेसबुक पोस्ट के जरिये सवाल उठाते हुए कहा, क्या भारत की न्यायिक व्यवस्था पक्षपातपूर्ण है ? जिसमें 94 फीसदी फांसी की सजा दलितों और मुस्लिमों को दी जाती है. एलेक्स की फेसबुक पर की गई टिप्पणी पर एक दिन में 100 से ज्यादा लाइक और दस कमेंट आए हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एलेक्स की फेसबुक पर की गई टिप्पणी को प्रदेश के कई वरिष्ठ अधिकारियों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गलत ठहराते हुए कहा कि एक आइएएस अधिकारी के रूप में इस तरह की जातिवादी टिप्पणी करना सही नहीं है.

गोरतलब रहें कि एलेक्स सोशल मीडिया पर जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया का समर्थन करने के बाद विवादों में आए थे. इस मामले में विधानसभा में हंगामे के बाद सरकार ने एलेक्स को कलेक्टर के पद से हटाकर मंत्रालय में पदस्थ किया था

Loading...