हिसार: 70 फीट गहरे बोरवेल से निकाले गए नदीम की हालत में सुधार

11:08 am Published by:-Hindi News

70 फीट गहरे बोरवेल से 48 घंटे बाद निकला और उसके तीन दिन बाद डेढ़ साल के मासूम नदीम ने खोलीं आंखें, तो जिगर के टुकड़े को देखकर मां फूट-फूट कर रोईं।

हिसार जिले के गांव बालसमंद के पास ढाणी में बोरवेल से निकाले गए डेढ़ साल के नदीम ने सोमवार को आंखें खोली और रोते हुए हलचल भी की। चिकित्सकों की देखरेख में उसे नली से दूध और जूस पिलाया गया।

चिकित्सकों के अनुसार नदीम तेजी से स्वास्थ्य में रिकवर कर रहा है। भूख लगने पर वह रोता है और उसे खाने देने पर वह चुप हो जाता है। उसे हैबी एंटीबायोटिक के साथ खाने में तरल दिया जा रहा है। अब बच्चे को ग्लूकोज भी नहीं दिया जा रहा है और वह चारों हाथ पांव हिला ढुला रहा है।

चिकित्सकों के अनुसार नदीप का प्रत्येक दिन बीपी चेक किया जा रहा है। उसका निमोनिया 80 प्रतिशत ठीक हो गया है। नदीम की टीएलसी इस समय 11 हजार है। इससे पहले उसकी टीएलसी 30 हजार हो गई थी।

गौरतलब है कि गांव बालसमंद में होली वाले दिन 20 मार्च की शाम 5:30 बजे नदीम बेर के पेड़ के पास भाई-बहनों के साथ बेर खाने गया था। इसी दौरान वह वहां खुले छोड़े गए बोरवेल में गिर गया था। 48 घंटे बाद भारतीय सेना, एनडीआरएफ की टीम व जिला प्रशासन के सहयोग से नदीम को बाहर निकाला गया।

Loading...