frj

उत्तरप्रदेश के स्थानीय निकाय चुनाव में पहले दौर के मतदान में बुधवार को गोंडा में उस समय हंगामा मच गया जब दो युवतियों को बुर्का पहने फर्जी मतदान करते हुए पकड़ लिया गया. हालांकि दोनों युवतियां हिन्दू समुदाय की निकली.

दरअसल, इन दिनों साम्प्रदायिक ताकतों ने बुर्के को ध्रुवीकरण का हथियार बनाया हुआ है. अभी तीन दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली में एक मुस्लिम महिला के सरेआम बेइज्जती की गई थी और उसका बुर्का जबरदस्ती उतरवाकर जब्त कर लिया गया था.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गोंडा के कटरा बाजार में स्थित भारतीय इंटर कॉलेज मतदान पर ये दो हिंदू युवतियां बुर्के को पहन कर वोट डालने पहुंची थी. जैसे ही दोनों लाइन में खड़ी हुई और वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों को कुछ शक हुआ उसके बाद उन्होंने इसकी सूचना संबंधित अधिकारियों को दी.

ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों में से महिला पुलिसकर्मी ने जब पूछताछ किया तो पता चला कि दोनो बुर्काधारी युवतियों का नाम पूजा गुप्ता और मानसी गुप्ता है. दोनों के पास इस बात का कोई जवाब नहीं था कि वे मतदान केंद्र पर बुर्के में क्यूं पहुंची. साथ ही दोनों के पास मौजूद पहचान पत्र में छपी तस्वीर मेल नहीं खा रही थी लिहाजा मतदान कर्मचारियों ने उन्हें वापस भेज दिया.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?