लखनऊ – पिछले कुछ दिनों से चर्चित आईपीएस हिमाशु कुमार को ससपेंड कर दिया गया है, उनका निलंबन उनकी पत्नी की तरफ से कराये गये दहेज़ उत्पीड़न के मामले को लेकर किया गया है, पिछली 2 मार्च को उनके खिलाफ बिहार की अदालत से वारंट जारी भी हुआ था.

हिमांशु कुमार वही आईपीएस अफसर हैं जिन्होंने हाल में ही योगी राज में यादव सरनेम वाले अफसरों को टारगेट करने और उनके ट्रांसफर करने का आरोप लगाया था। निलंबन पर हिमांशु कुमार ने पहली प्रतिक्रिया ट्विटर पर जताते हुए लिखा है कि ‘विजय सिर्फ सत्य की ही होती है।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हालांकि न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक आईपीएस अधिकारी को अनुशासनहीनता की वजह से निलंबित किया गया है। चुनाव के दौरान ही आईपीएस हिमांशु कुमार को चुनाव आयोग ने फिरोजाबाद से भी हटाया था। हिमांशु कुमार ने 22 मार्च को एक ट्वीट के जरिए यूपी में यादव सरनेम वाले अधिकारियों को टारगेट करने का मुद्दा उठाया था। हिमांशु ने ट्वीट कर कहा था, ‘वरिष्ठ अधिकारियों में ‘यादव’ सरनेम वाले पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड करने या रिजर्व लाइन भेजने के लिए होड़ मची है।’

Loading...