hijj

hijj

देश में चल रहे मुस्लिमों के उत्पीड़न के बीच महाराष्ट्र के थाणे में अब एक निजी स्कूल ने मुस्लिम छात्राओं के हिजाब पहनने पर रोक लगा दी है.

सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए सिंबॉयसिस कॉन्वेंट हाई स्कूल ने सर्कुलर जारी कर कहा, छात्रों को स्कूल परिसर में और इसे त्यागने तक अपने चेहरे कवर करने की अनुमति नहीं दी जाएगी. साथ ही कहा गया कि छात्रों के परिजनों को भी परिसर में प्रवेश करते वक्त चेहरे को दिखाना होगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्कूल के ट्रस्टी कमलराज देव ने कहा कि सुरक्षा कारणों से यह कदम उठाया गया है. उन्होंने बताया कि, कुछ स्टूडेंट्स पूरे बुर्के में स्कूल आते-जाते हैं. जब उनके माता-पिता हमारे पास आते हैं तो हमारे सुरक्षा गार्ड को पता ही नहीं होता है कि उनकी लड़कियां कहां हैं.

देव के मुताबिक, कुछ दिनों पहले दो महिलाएं अपनी बच्ची को लेने आई थीं. उनके भी चेहरे ढके हुए थे. जब क्लास टीचर को बुलाया गया तो वो दोनों महिलाएं वहां से भाग खड़ी हुईं. उन्होंने कहा कि यह एक तरह से अपहरण की कोशिश थी.

धार्मिक भानवाओं से खिलवाड़ के आरोप पर देव ने कहा कि किसी की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचाने का उनका कोई इरादा नहीं है लेकिन सभी छात्राओं और उन्हें ले जाने आने वाले अभिभावकों को कैमरा के सामने चेहरे पर से बुर्का या नकाब हटाना ही होगा. यह पूरी तरह से बच्चों की सुरक्षा का मामला है.

Loading...