लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रदेश की योगी सरकार से सिर्फ मदरसों की वीडियाग्राफी कराने को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जवाब तलब किया है.

दरअसल, इलाहाबाद के रहने वाले नवाब महबूब ने सिर्फ मदरसों की ही वीडियाग्राफी कराने को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर आरोप लगाया कि योगी सरकार मदरसों के साथ भेदभाव कर रही है. किसी भी स्कूल  या अन्य धर्म के शिक्षण संस्थानों के लिए ये आदेश जारी नहीं किया गया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ध्यान रहे योगी सरकार के आदेश के तहत मदरसा शिक्षा परिषद ने 3 अगस्त को सभी मदरसों को 15 अगस्त को स्वाधीनता दिवस समारोह की वीडियोग्राफी और फोटो दाखिल करने का निर्देश जारी किया था.

याचिका में कहा गया, मदरसों के साथ इस तरह का बर्ताव अनुच्छेद- 14 व 30 में मिले मूलभूत अधिकारों का उल्लंघन है. याचिका में कहा है कि केवल मदरसों से ही ध्वजारोहण व राष्ट्रगान की वीडियो रिकॉर्डिंग और फोटो क्यों मांगी गई है?

फिलहाल अब इस मामले में अगली सुनवाई को कोर्ट तय करेगी कि अखिर योगी सरकार के आदेश देने के पीछे क्या मंशा दी.

Loading...