केंद्र और महाराष्ट्र की सत्ता में भारतीय जनता पार्टी की अहम सहयोगी पार्टी शिवसेना पहले तो केवल प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का विरोध ही कर रही थी लेकिन अब मजाक उड़ाने में भी परहेज नहीं कर रही हैं.

मुंबई में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मजाक उड़ाने के लिए उनके भाषणों के मित्रों शब्दों का सहारा लिया. उन्होंने कहा, ‘पहले मैं अपने भाषण की शुरुआत भाईयों और बहनों या मित्रों से शुरू करता था, लेकिन अब मैं ये शब्द इस्तेमाल नहीं करता, क्योंकि अब लोग ये शब्द सुनकर भाग खड़े होते हैं आजकल चायवाले को ही एेसा कहते हुए सुना जाता है.’

दरअसल, शिवसेना और बीजेपी बीएमसी का चुनाव साथ मिलकर नहीं लड़ रहे हैं.  उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्हें अभी तक किसी पार्टी की ओर से गठबंधन का कोई प्रस्ताव नहीं मिला है. ठाकरे ने कहा, ‘सीट बंटवारे को लेकर मेरे पास फॉर्मूला था, लेकिन मुझे अभी तक कोई प्रस्ताव नहीं मिला है.’

राज्य निर्वाचन आयुक्त जे एस सहारिया ने मुंबई, ठाणे और पुणे समेत 10 नगर निगमों में 21 फरवरी को तथा 26 जिला परिषदों में 16 फरवरी एवं 21 फरवरी को दो चरणों में चुनाव होंने की घोषणा की हैं. इन चुनावों की मतगणना 23 फरवरी को होगी.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें