kut

kut

हरियाणा के हांसी में स्थित चार कुतुब दरगाह को ऐतिहासिक घोषित कर दरगाह का फिर से जीर्णोधार कर सकती है. दरअसल दरगाह के रखरखाव सौंदर्यीकरण के लिए पुरातत्व एवं अभिलेखागार विभाग के महानिदेशक डॉ. प्रवीन कुमार ने दरगाह का मुआयना किया है.

ये दरगाह करीब 900 साल पुरानी है. दरगाह हजरत कुतुब जमालुद्दीन की है. जो करीब 76 वर्ष तक हांसी में रहे. हजरत कुतुब जमालुद्दीन हजरत बाबा फरीद के शिष्य थे. बाबा फरीद की दुआ पर जमालुद्दीन के घर चार कुतुब हुए, जो हांसी की जमीन पर दफन हैं. इन्हीं की याद में दरगाह चार कुतुब का निर्माण हुआ. कहा जाता है कि बाबा फरीद ने भी करीब 12 साल तक यहाँ इबादत की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

डॉ. प्रवीन कुमार ने इस दौरान दरगाह की जियारत की. डॉ. कुमार करीब डेढ़ घंटे तक वह दरगाह में रहे. उन्होंने दरगाह का इतिहास जाना. दरगाह की दीवारों, मकबरों आदि को बारीकी से देखी. कुमार ने बताया कि विभाग द्वारा दरगाह में डेढ़ करोड़ रुपये लगाने की योजना तो है. इसका कार्य जल्दी ही शुरू हो जाएगा.

उन्होंने कहा, सरकार का मकसद है कि इस जगह का महत्व देश लोगों को पता लगे. यह जगह गुमनाम बनकर न रह जाए. उन्होंने कहा कि इसलिए सरकार द्वारा जल्दी ही इसके लिए कोई योजना बनाई जा सकती है.

कुमार ने जगह की पैमाइश और निशानदेही करने का भी आदेश दिया. अब कानूनगो पटवारियों द्वारा इस जगह की जल्दी ही पैमाइश करके विभाग को रिपोर्ट दी जाएगी.

Loading...