आगामी गुजरात विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को अप्रत्यक्ष रूप से कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर चुके पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के प्रमुख नेता हार्दिक पटेल ने बीजेपी पर आरोपों की  झड़ी लगा दी.

अब तक का सबसे गंभीर आरोप लगाते हुए हार्दिक ने कहा कि बीजेपी ने उन्हें आंदोलन वापस लेने के लिए 1,200 करोड़ का ऑफर दिया था. उन्होंने कहा, ”बीजेपी ने मुझे पाटीदार आरक्षण आंदोलन वापस लेने के एवज में प्रधान सचिव कैलाशनाथन के जरीए 1200 करोड़ रुपए देने की पेशकश की थी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हार्दिक ने बताया कि बीजेपी ने यह प्रस्ताव मुझे उस समय दिया, जब मैं सूरत जेल में बंद था.” उन्होंने कहा कि बीजेपी की नीयत में खोट है, बीजेपी के खिलाफ लड़ना जरूरी है. साथ ही उन्होंने कांग्रेस की और से आरक्षण देने के आश्वासन पर अपनी सहमति जताई है.

उन्होंने कहा, “कांग्रेस ने हमारी कई मागों को स्वीकार किया है, हमारे आरक्षण की मांग को संवैधानिक तौर पर देने के लिए हमें भरोसा दिया है. देश के कई राज्यों में 50 फीसदी से ज्यादा आरक्षण हैं. ऐसे में कांग्रेस ने उसी तर्ज पर हमें आरक्षण देने की बात कही है. हमें कांग्रेस का ये फॉर्मूला मंजूर है.”

हार्दिक ने कहा, भाजपा की नीयत में ही खोट है, इसलिए तो जनता भाजपा सरकार के खिलाफ उठ खड़ी हुई है. उन्होंने कहा, पाटीदार वोटों को बांटने के लिए भाजपा ने 200 करोड़ रुपये का फंड तैयार किया है.

Loading...