gulis

gulis

देहरादून की गुलिस्तां अंसारी शहर की पहली ई रिक्शा महिला चालक है. जो अपने घर को चलाने के लिए रिक्शा चलाती है.

इंदर रोड नई बस्ती निवासी 25 साल की गुलिस्तां इंदर रोड नई बस्ती से तहसील चौक तक सवारियों को लाती हैं. महज 5वीं तक पड़ी गुलिस्तां ने इस रिक्शा को चलाकर अपने घर का जिम्मा संभाला हुआ है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गुलिस्तां अपने परिवार की सबसे छोटी बेटी हैं. उनसे बड़ी 5 बहनों की शादी हो चुकी है. इससे पहले गुलिस्तां एक दवाई कंपनी में काम करती थी लेकिन कम पैसे मिलने की वजह से उन्होंने ये नौकरी छोड़ दी. परिवार का पालन करने के लिए उन्होंने अब बैंक से लोन लेकर ई रिक्शा खरीदा और फिर बेधड़क रूट पर निकल पड़ीं.

गुलिस्तां का कहना है कि उन्होंने मेहनत करना अपनी मां से सीखा है. पिता के गुज़रने के बाद उनकी मां ने मजदूरी कर परिवार पाला. बहनों की शादी की. अब मां बूढ़ी हो गई हैं. ई रिक्शा चलाकर गुलिस्तां रोजाना करीब 500 रुपये कमाती हैं और उसीमें से बैंक का लोन चुकाने के लिए 2500 रुपये निकालती भी हैं.

यहां बता दें कि महिला और लड़कियां उनकी ई रिक्शा से चलना पसंद करती हैं. अब महिलाएं खुद फोन करके गुलिस्तां के रिक्शा की बुकिंग करती हैं.

Loading...