गुजरात: दलित की बारात पर पथराव के बाद हिं’सा, रास्ते में करने लगे भजन और यज्ञ

11:17 am Published by:-Hindi News

गुजरात के अरावली जिले में रविवार को दलित दूल्हे की बारात पर पथराव किया गया। इस घटना को अंजाम देने का आरोप ऊंची जाति के लोगों पर है, जिसके बाद इलाके में हिंसा भड़क गई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा।

साबरकांठा जिले की प्रांतिज तहसील के सितवाड़ा गांव में रविवार को एक दलित युवा की बारात पुलिस की निगरानी में निकाली जा रही थी। ऊंची जाति के लोगों के लगातार विरोध की वजह से भारी पुलिस बल तैनात किया गया था। बता दें कि 2 दिन पहले इसी इलाके में दलित कॉन्स्टेबल की बारात भी पुलिस सुरक्षा में निकाली गई थी।

एक स्थानीय निवासी भीखाभाई वानिया के मुताबिक सितवड़ा गांव के ठाकोर समुदाय ने शनिवार को उस वक्त विरोध किया, जब अनिल राठौड़ नाम के एक शख्स का परिवार बारात लेकर उस गांव से गुज़र रहा था और वहां के स्थानीय मंदिर में पूजा करने की कोशिश की। तनाव को देखते हुए दूल्हे के परिवार ने पुलिस से सुरक्षा की मांग की।

up police inhuman face disclose

पुलिस उपाधीक्षक मीनाक्षी पटेल ने कहा, ‘अनिल राठौड़ के परिवार ने पुलिस में एक अर्ज़ी देकर बारात के लिए पुलिस सुरक्षा मांगी थी। उन्होंने अपनी अर्ज़ी में कहा कि गांव के दलित सदस्यों ने आशंका जतायी है कि अन्य समुदाय के सदस्य परेशानी पैदा कर सकते हैं।’ डीएसपी ने कहा, ‘हमने बारात को पुलिस सुरक्षा मुहैया करायी और बारात शांतिपूर्ण ढंग से गुज़र गई। दूल्हा पास के गांव में विवाह समारोह में जाने से पहले गांव के मंदिर भी गया।’

एक अन्य घटना में राज्य के अरवल्ली जिले के खामबिसार गांव के पाटीदार समुदाय के सदस्यों ने एक दलित की बारात बाधित करने के लिए मुख्य सड़क पर भजन और यज्ञ का आयोजन किया। यह आरोप दूल्हे के परिवार ने लगाया है। शुक्रवार को ठाकोर समुदाय के सदस्यों ने एक अन्य बारात पर आपत्ति जतायी क्योंकि दूल्हा घोड़ी पर सवार हो कर विवाह करने जा रहा था।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें