dalit
सांकेतिक फ़ोटो
dalit
सांकेतिक फ़ोटो
भारत को वैसे तो विकास और प्रगति वाला देश माना जाता है, लेकिन शायद आपको यह नहीं पता के यहाँ के लोगों की मानसिकता अभी भी पिछड़ी हुई ही है. भारत में बहुत से राज्य ऐसे है जहाँ आज भी खाप पंचायतों की मनमानी चलती हैं. खाप पंचायतों का ज़ोर वैसे तो हरियाणा में ज़्यादा हैं लेकिन अब जो मामला सामने आया है वह एक ऐसा राज्य का हैं जिसे सुन कर आप ज़रूर चौंक जाएँगे.
पेश है गुजरात से इरफ़ान सय्यद की रिपोर्ट-
यह मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वतन वड़नगर के पास महियल गाँव का है, जहाँ एक ग़ैरदलित लड़की पिंकी को दलित लड़के प्रह्लाद रोहित से मुहब्बत हो गई. दस साल तक चले इस रिश्ते के बाद दोनो ने अहमदाबाद में शादी कर ली जिस के बाद गाँव के ग़ैरदलित लोगों ने खाप पंचायत को जानकारी दी. इस बात के डर कर नवविवाहित जोड़े ने 1 जनवरी को गाँव छोड़ दिया और वह अहमदाबाद में रहने लगे.
इसके बाद लड़की ने 16 फ़रवरी को DSP मेहसाणा को पोस्ट के ज़रिये ज्ञापन भेजा हैं जिसमें उन्होंने कहा हैं कि मैंने एक दलित लड़के से शादी की जिसके बाद गाँव की खाप पंचायत ने मेरे ससुराल वालो का सामाजिक बहिष्कार कर दिया हैं. लड़की ने आरोप लगाया हैं कि गाँव वाले मेरे सास-ससुर को जीवन निर्वाह की चीज़ें भी नहीं देते और आने जाने के लिए गाड़ीओ में भी बैठने की भी इजाज़त नहीं देते.
 letter1
letter2
letter3
लड़की ने DSP से गुहार लगाते हुए अपने ससुराल वालो की सुरक्षा के लिए पुलीस प्रोटेकशन की माँग की है. वहीँ लड़की ने खाप पंचायत के खिलाफ़ क़ानूनी कार्यवाही करने के लिए भी पुलिस से आग्रह किया है, ताकि वह मुझे मेरे पति को और ससुराल वालों को कोई हानि ना पहुँचा सके.
लड़की ने अपने इस ज्ञापन की कॉपी गुजरात के पुलिस महानिर्देशक, मानव अधिकार आयोग गाँधीनगर, महिला आयोग गाँधीनगर, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता प्रभाग और खेरालु पुलिस स्टेशन में भी भेजी हैं. अब लड़की की उम्मीदें गुजरात सरकार पर टिकी हुई है.
screenshot 3
screenshot 4
screenshot 6
screenshot 7
screenshot 7
screenshot 8
Loading...