padr

padr

गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी के लिए एक के बाद एक मुसीबत सामने आ रही है. दलितों, पटेलों, और पिछड़ों के बाद अब ईसाई समुदाय भी बीजेपी से कन्नी काट सकता है.

दरअसल, गांधीनगर चर्च के प्रधान पादरी थॉमस मैक्वेन ने अपने समुदाय के लिए खुला पत्र जारी कर इशारों ही इशारों में बीजेपी को वोट नहीं देने की अपील की.  21 नवंबर को लिखी इस खत में उन्होंने राष्ट्रवादी ताकतों से देश को बचाने की अपील की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने खत में लिखा, “गुजरात विधानसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका है. इस चुनाव के परिणाम देश के लिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि इसकी प्रतिक्रिया और प्रतिध्वनि हमारे प्यारे देश पर पड़ेगी. यह हमारे देश के भविष्य पर भी असर डालेगा.”

पादरी ने आगे लिखा, हमें मालूम है कि हमारे देश की धर्मनिपेक्षता और लोकतंत्र इस समय दांव पर है. मानवाधिकारों का उल्लंघन किया जा रहा है.संवैधानिक अधिकारों को कुचल दिया जा रहा है. ऐसा एक दिन भी नहीं जाता जब हमारे चर्चों, चर्च के लोगों या अन्य संस्थानों पर हमला ना हो.

उन्होंने कहा, ओबीसी, पिछड़ों, गरीबों और अल्पसंख्यक के बीच असुरक्षा का भाव बढ़ता जा रहा है. देश भर में राष्ट्रवादी ताकतें चरम पर हैं. गुजरात विधानसभा चुनाव के परिणाम एक परिवर्तन ला सकते हैं.