राजधानी गांधीनगर से करीब 15 किलोमीटर की दुरी पर दलित उत्पीडन का मामला सामने आया है. एक दलित युवक को ऊँची जात के लोगों ने इसलिए पीटा की उसने स्टाइलिश मूंछे रख ली.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, लिंबोदरा गांव निवासी पीयूष परमार के साथ दरबार समुदाय के मयूर सिंह वघेला, राहुल विक्रमसिंह और अजीत सिंह वघेला में इसलिए मारपीट की कि उसने नीची जाति के होने के कारण मूंछे रखी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पीड़ित ने बताया कि वह अपने चचेरे भाई दिगांत महेरिया के साथ गरबा देखकर घर घर लौट रहा था. रास्ते में कुछ लोगों ने उनका पीछा किया. इस दौरान वे उन्हें जातिसूचक भद्दी गालियां देते रहे. लेकिन उन्होंने झगड़ा करने की वजह से नजरंदाज किया.

परमार ने बताया कि आखिर में वे हमारे पास पहुंचे और  पहले दिगांत को पीटा और फिर मुझे भी पीटने लगे. वो बार-बार पूछ रहे थे कि नीची जाति के होने के कारण में मैं मूछ कैसे रख सकता हूं.’

आरोपियों के खिलाफ कालोल पुलिस ने आईपीसी के धारा 323, 504 और 114 के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है. पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी में जुटी है.

Loading...