jn

jn

गुजरात के चीफ सेक्रेट्री जेएन सिंह ने गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी को मिली कम सीटों की मिलने की वजह बताते हुए कहा कि किसानों की बदहाली और युवाओं में रोजगार न होने के कारण बीजेपी के खिलाफ वोट डाले गए.

सिंह ने कहा कि , ‘चुनाव के दौरान जो दो चीजें स्पष्ट रूप से मतबूती से उभरकर सामने आई, पहली: किसानों की बदहाल स्थिति. गुजरात भर में किसान परेशान हैं. खासकर सौराष्ट्र में.’ उन्होंने बीजेपी के खिलाफ वोट देकर अपनी नाराजगी और गुस्सा जाहिर किया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने आगे कहा, ऐसा क्यों हुआ? चूंकि लोगों में इस तरह की भावना थी कि चीजें उनके लिए लाभकारी साबित नहीं हुईं. जबकि दूसरा अहम कारण बेरोजगारी है. युवाओं को नौकरी न मिलना भी पार्टी के खिलाफ वोट पड़ने की एक वजह है. हर जगह बेरोजगारी है.”

चीफ सेक्रेट्री ने कहा, “मुझे लगता है कि यह एक पहल है. यहां आने वाली एईपीसी गारमेंट सेक्टर को रफ्तार देगी. गारमेंट सेक्टर में एक बार बड़े स्तर पर उतरने पर यह बड़ी संख्या में रोजगार को जन्म देगा. आशा है कि गुजरात आने वाले समय में गारमेंट के लिहाज से बड़ा हब बनेगा. गुजरात भर में बेरोजगारी को लेकर काम किया जाना चाहिए.”

आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनावों के नतीजों में भाजपा को 99 सीटें और कांग्रेस पार्टी को 77 सीटें मिली थीं. सौराष्ट्र क्षेत्र में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था, जहां उसे 48 में से सिर्फ 19 सीटें ही मिलीं. जबकि कांग्रेस को 28 सीटें मिलीं.

Loading...