truckers

truckers

गुड्स एवं सर्विस टैक्स (जीएसटी) कानून और दिन-प्रतिदिन डीजल के दामों में बढ़ोतरी के चलते हिमाचल प्रदेश में 10 हजार ट्रकों के पहियों पर ब्रेक लग गया.

उत्तर भारत की सबसे बड़ी यूनियनों में से एक बीबीएन की ‘दी ट्रक आपरेटर यूनियन आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) के आह्वान पर बुलाई गई हड़ताल पर प्रदेश की पूरी ट्रांसपोर्ट व्यवस्था ठप्प हो गई.

ट्रक मालिकों ने माल उठाने से मना कर दिया. दरअसल यूनियन की कोई भी गाड़ी प्रदेश सहित बाहरी राज्यों के लिए माल नहीं उठाएगी. बीबीएन की ट्रक यूनियन में 10 हजार से अधिक वाहन शामिल हैं.

ट्रक यूनियन के अध्यक्ष चौधरी विद्यारतन ने कहा कि आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने जीएसटी व डीजल के दामों में वृद्धि को लेकर सोमवार को देशव्यापी चक्का जाम करने का आह्वान किया है. इसका ट्रक आप्रेटर यूनियन का पूर्ण समर्थन किया है.

औद्योगिक संघ बीबीएनआईए के अध्यक्ष शैलेष अग्रवाल ने कहा कि इस हड़ताल से उद्योग जगत पर काफी मार पड़ेगी, क्योंकि इस वक्त त्यौहार का सीजन है. उद्योगों के पास काफी आर्डर है. कच्चा माल लाने व तेयार माल भेजने में परेशानी उठानी पड़ेगी.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें