Nitish Kumar laid the foundation to build a grand alliance in Uttar Pradesh, the biggest challenge for soft

बिहार: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उर्दू भाषा के प्रति खासी मेहरबानी दिखाई है. सीएम ने सरकारी नियमों,अधिसूचनाओं और सरकारी आदेशों को भी उर्दू में अनुवाद कर जारी किए जाने का निर्देश दिया है.

सचिवालय स्थित सभी विभाग, प्रमंडलीय कार्यालय, समाहरणालय, अनुमंडल कार्यालय, प्रखंड सह अंचल कार्यालय, डीआईजी ,एसपी, एसडीपीओ एवं सभी थाने, निबंधन कार्यालयों एवं जिला शिक्षा कार्यालयों मे भी ऊर्दू अनुवादक, लिपिक और कम्प्यूटर ऑपरेटर की नियुक्ति आवश्यकतानुसार की जाएगी.

इसके साथ ही सरकारी विज्ञापनों को भी उर्दू में प्रकाशित कराने की बात कही गई है. मंत्रिमंडल सचिवालय के उर्दू निदेशालय को आवश्यकतानुसार उप निदेशक, राजभाषा पदाधिकारी, उर्दू अनुवादक, उर्दू सहायक एवं अन्य पदों को सृजित करते हुए उर्दू निदेशालय को सशक्त करने का निर्देश दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मंत्रिमंडल सचिवालय के कार्यों की उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक के साथ ही नीतीश ने सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के कार्यो की भी समीक्षा की.

डबल इंजन प्लेन की भी दी जाएगी ट्रेनिंग

बैठक में सीएम ने बिहार उड्डयन प्रशिक्षण संस्थान को सशक्त किए जाने का भी निर्देश देते हुए तीन और विमानों को मरम्मती कर अलगे दो माह के भीतर प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध कराए जाने की बात कही. इसके साथ ही वैसे प्रशिक्षण पायलट जिन्हें डबल इंजन के प्रशिक्षण के लिए अन्य राज्यों एवं देश से बाहर जाना पड़ता है उन्हे बिहार में ही प्रशिक्षण मिल सकेगा. बिहार उड्डयन संस्थान देश का पहला संस्थान होगा जिसमें किंग एयर सी 90 हवाई जहाज का प्रशिक्षण दिया जाएगा.

सभी जिलों में होगा हेलीपैड

कैबिनेट की बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि राज्य के सभी पुलिस लाईन में हेलीपैड का निर्माण कराया जाएगा ताकि विधि-व्यवस्था एवं आपातकाल की स्थिति में संचार माध्यम जारी रहे. अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक स्थल राजगीर स्थित नालंदा विश्वविधालय को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने के लिए एक हवाई पट्टी का निर्माण कराए जाने का सीएम ने निर्देश दिया. साभार: न्यूज़ 18

Loading...