chinta

chinta

यू.पी. बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने के लिए योगी सरकार भले ही पूरी कोशिश कर रही हो. लेकिन खुद पार्टी के नेता ही इस गोरखधंधे में शामिल है. जिसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर भी अछूता नहीं है.

गुरुवार को पुलिस और प्रशासन की टीम ने गोरखपुर के खोराबार इलाके में स्थित योगी पंडित राममूर्ति मेमोरियल हायर सेकेंडरी स्कूल में प्रशासन की टीम ने छापा मार कर नकल छात्रों को नक़ल करा रहे स्कूल के प्रधानाचार्य, केंद्र व्यवस्थापक और तीन शिक्षकों समेत नौ लोगों को गिरफ्तार किया है. ध्यान रहे ये स्कूल भाजपा नेता चिंतामणि पांडेय का है.

इस पुरे गोरखधंधे में भाजपा नेता चिंतामणि पांडेय, उनकी पत्नी प्रधानाचार्य और केंद्र व्यवस्थापक तक शामिल हो. जो नकल के बदले मोटी राशि वसूल रहे थे. हालांकि ये सभी छापेमारी के बाद से ही फरार है. जांच में खुलासा हुआ कि सभी उत्तर पुस्तिकाएं सेंटर के बाहर लिखा कर स्कूल में जमा कराई जा रही थी.

गोरखपुर के डीआईओएस ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया ने बताया कि यह मामला गंभीर है. स्कूल को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है, भविष्य में स्कूल में बोर्ड परीक्षा का सेंटर नहीं बनाया जाएगा. उन्होंने बताया कि तहरीर देकर नौ लोगों पर एफआईआर की गई है.

ध्यान रहे इससे पहले पुलिस ने अतरौली क्षेत्र में बोर्ड के एग्जाम की कॉपियां लिखते हुए बीजेपी नेता के घर से पुलिस ने 62 छात्र छात्राओं को पकड़ा है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें