गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा की और से भारतीय जनता पार्टी को राज्य में सरकार के गठन के लिए आमंत्रण मिल गया हैं. बीजेपी की और से पूर्व रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर को मुख्यमंत्री बनाने का फैसला किया गया हैं. पर्रिकर मंगलवार को मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेंगे. हालांकि कांग्रेस ने इसी बीच राज्यपाल के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया. जिस पर सुनवाई भी मंगलवार को होनी हैं.

बीजेपी के सरकार बनाने के फैसले के साथ ही राज्य कांग्रेस में बवाल शुरू हो गया हैं. पार्टी के कुछ मुख्य विधायकों ने इसके लिए वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदार ठहराया. जिसमे कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का नाम प्रमुख हैं. राज्य कांग्रेस के प्रमुख नेता विश्वजीत पी राणे ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेताओं को अपनी गलती स्वीकार करनी होगी. NDTV से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मेरी राय में यह पूरी तरह से हमारी लीडरशिप के कुप्रबंधन का नतीजा है.’

उन्होंने कहा, चुनावों में कांग्रेस को सरकार बनाने के लिए जनादेश मिला था, लेकिन हमने मौका गंवा दिया और ऐसा हमारे नेताओं की मूर्खता की वजह से हुआ है. राणे ने कहा कि पार्टी को उन्हें हल्के में नहीं लेना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘मुझ पर समर्थक विधायकों का कोई न कोई ठोस कदम उठाने को लेकर जबर्दस्त दबाव है, लेकिन मैं केवल अपनी नेता सोनिया गांधी के कारण रुका हुआ हूं.’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री के दावेदारों में से भी एक विश्वजीत राणे ने कहा, ‘मेरे दिमाग में कई विचार आ रहे हैं. कई बार मुझे लगता है कि मैं गलत पार्टी में हूं.’

Loading...