geeta

geeta

पाकिस्तान से भारत लाई गई मूक बधिर गीता को मध्यप्रदेश के इंदौर से उज्जैन स्थान्तरित करने के प्रयास शुरू कर दिए गये हैं. इसी बीच गीता ने खुद को बड़ा नुकसान पहुँचाया है.

वर्तमान में गीता इंदौर के एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) परिसर में रह रही है. संस्थान में गीता के साथ विवाद हुआ. जिसके बाद आनन-फानन में जिला अधिकारी एकीकृत बाल विकास सेवा ने उक्त आदेश जारी कर दिए हैं.

एकीकृत बाल विकास सेवा जिला इंदौर ने गीता को उज्जैन स्थानांतरित करने के लिए सामाजिक न्याय विभाग इंदौर को पत्र लिखा है, जिसमें गीता को इंदौर से उज्जैन स्थानांतरित किये जाने हेतु आवश्यक व्यवस्था करने हेतु निर्देशित किया गया है.

ध्यान रहे पाकिस्तान से गीता को भारतीय होने की आशंका के चलते 26 अक्टूबर 2015 को भारत लाया गया था. गीता भारतीय विदेश मंत्रालय की जिम्मेदारी है, जब तक उसके माता-पिता नहीं मिल जाते तब तक उसका ख्याल रखना मंत्रालय के जिम्मे है.

हालांकि अब तक उसके माता-पिता को तलाशने में कोई सफलता हासिल नहीं हुई है. बताया जा रहा है कि गीता अपने माता-पिता के नहीं मिलने से आक्रोशित है और उसकी मनोस्थिति ठीक नहीं है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें