balika grih560 1527953534 618x347

बिहार में बालिका गृह से लड़कियों को नेताओं और अफसरों के लिए सप्लाई करने के शर्मनाक मामले का खुलासा हुआ है. मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह को यौन शोषण  खुलासे के बाद सील कर दिया गया.

बालिका गृह की सभी 87 लड़कियों को पटना और मधुबनी स्थानांतरित कर दिया गया. साथ ही इसका इसका  संचालन करने वाली ‘सेवा संकल्प एवं विकास समिति’ नामक गैरसरकारी संस्था के खिलाफ जांच शुरू कर दी गई.

पुलिस ने हिरासत में लिए गए संरक्षणकर्ता ब्रजेश ठाकुर और सात महिलाओं को रविवार दोपहर पॉक्सो एक्ट व दुष्कर्म समेत कई तरह की धाराओं के तहत जेल भेज दिया। इस मामले में राज्य महिला आयोग की टीम रविवार दोपहर परिसदन पहुंची और सिटी एसपी व नगर डीएसपी के साथ बैठक कर मामले की जानकारी ली.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बालिकाओं ने मजिस्ट्रेट के समक्ष यौन शोषण व ¨हसा की बात स्वीकारी और इसमें संलिप्त लोगों को कड़ी से कड़ी सजा की मांग की. बता दें कि टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस, मुंबई की ‘कोशिश’ टीम की जांच रिपोर्ट के बाद निदेशक, समाज कल्याण विभाग के निर्देश पर यह कार्रवाई हुई.

एसएसपी हरप्रीत कौर ने बताया कि बालिका गृह यौन शोषण मामले में हिरासत में लिए गए ब्रजेश ठाकुर समेत आठ लोगों को जेल भेजा गया है. अब तक की जांच में काफी साक्ष्य मिले हैं. विशेष पुलिस टीम साक्ष्य के आधार पर आगे की कार्रवाई कर रही है. आरोपितों को स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलाई जाएगी।

Loading...