alisha

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में 100 लड़कों को गले लगाकर ईद की बधाई देने वाली लड़की अलीशा मलिक अपनी इस हरकत पर माफ़ी मांगी है। मुस्लिम धर्मगुरुओं के ऐतराज के बाद उसने माफी मांगी है।

आलिशा का कहना है कि उन्होंने बधाई देने के लिए 100 लोगों को गले लगाया था और इसके पीछे का मकसद पब्लिसिटी नहीं था। अलीशा मालिक के मुताबिक, इस घटना के बाद उसका घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है।

उसने कहा, ‘मेरा कोई गलत इरादा नहीं था। मैंने 100 लोगों को ईद की बधाई देने के लिए उन्हें गले लगाया। मैंने पब्लिसिटी के लिए ये सब नहीं किया। मेरे परिवार को लगातार मेसेज आ रहे हैं कि कैसे मैंने अपने परिवार और धर्म की इज्जत मिट्टी में मिला दी है। मुझे नहीं पता कि यह विडियो क्यों और कैसे वायरल हो गया था।’

बता दें, हाल ही में अलीशा का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो कतार में खड़े लड़कों से गले मिलकर ईद की बधाई दी थी। इसे देवबंदी उलेमा ने भी इसे गैर-इस्लामी बताया था।

देवबंद के उलेमा मौलाना अब्दुल लतीफ कासमी ने कहा था कि इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता। उन्होंने कहा कि इस्लाम ही क्या, किसी भी मज़हब को मानने वाला व्यक्ति इसकी इजाजत नहीं देगा कि उसकी बहन-बेटी किसी दूसरे लड़के के गले लगे।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?