ramvi

ramvi

हरियाणा के सरकारी स्कूलों में अब सुबह की प्रार्थना हिन्दू धार्मिक रीतियों के साथ होगी. जिसमे बच्चों को गायत्री मंत्र पढ़ना होगा. इस बात की जानकारी खुद राज्य के शिक्षामंत्री ने दी है.

शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार बनने के तुरंत बाद स्कूलों के पाठ्यक्रम में गीता के श्लोक जोड़े गए थे. जिसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैअब, हम स्कूलों की प्रार्थना सभा में गायत्री मंत्री जोड़ने जा रहे हैं ताकि बच्चे इसका मतलब समझ सकें.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राम बिलास शर्मा ने दावा किया कि हरियाणा में गीता, गाय और सरस्वती की तरह गायत्री मंत्र का भी स्वागत किया जाएगा. उन्होंने बताया, सरकार का मानना है कि ऐसा करने से राज्य के स्कूलों का माहौल सुधरेगा और बच्चे मन लगाकर पढ़ाई कर सकेंगे. शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं.

सरकारी स्कूलों में प्रार्थना की शुरुआत गायत्री मंत्र के साथ होगी, वहीं राष्ट्रगान के साथ ही प्रार्थना खत्म होगी.  शिक्षा निदेशालय ने सभी सरकारी स्कूलों को आदेश भेजे हैं कि वो 20 मिनट की प्रार्थना में रोजाना नियमानुसार ही प्रार्थना करवाएं.

इस बारें में हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के अध्यक्ष वजीर सिंह का कहना है कि राज्य के ज्यादातर स्कूलों में गायत्री मंत्र पहले से ही सुबह की प्रार्थना सभा का हिस्सा था. उन्होंने कहा- “हम एक धर्मनिरपेक्ष देश में रह रहे हैं और सभी धर्मों के अभ्यास को समान महत्व दिया जाना चाहिए. सरकार को शिक्षकों की भर्ती और स्कूलों के इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए.