नाथूराम गोड़से

भोपाल में स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में पत्रकारिता के विद्यार्थियों को पढ़ाई जाने वाली एक किताब में देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारें को महापुरुष बताये जाने को लेकर गुरुवार को मध्यप्रदेश विधानसभा में भारी हंगामा हुआ.

ता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने सदन में कहा कि इस पुस्तक में गोडसे और रावण को महापुरुष बताया गया है. अजय सिंह ने कहा कि इतना ही नहीं, इसी विश्वविद्यालय के एक शोधछात्र ने अपने शोधपत्र में नाथूराम गोडसे को महापुरुष बताया है. पत्रकारिता के छात्रों को पढ़ाई जा रही इस किताब के लेखक मोनिका वर्मा और सुरेंद्र पाल हैं.

इस बारें में जब माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलाधिसचिव (रेक्टर) लाजपत आहूजा ने कहा कि “जनजातियों पर एक शोधकार्य हुआ है, जिसमें संबंधित वर्ग से पूछा गया कि उनका महापुरुष कौन है, तो एक व्यक्ति ने अपना महापुरुष ‘नाथूराम गोंड’ को बताया है, न कि गोडसे को. यही बात शोधपत्र में प्रकाशित की गई है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

कांग्रेस ने बुधवार को सदन में राज्य के विश्वविद्यालयों में एमए में पढ़ाई जाने वाली किताब ‘भारत का भूगोल’ में गोंड जनजाति को गाय मारने वाला और गाय का मांस खाने वाला बताए जाने का मामला उठाया था. हालांकि अब इस किताब के लेखक और प्रकाशक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के आदेश देने के साथ-साथ उस कॉलेज के प्रिंसिपल को भी निलंबित कर दिया गया है जिस कॉलेज की लाइब्रेरी में इसे रखा गया था.

Loading...