Tuesday, October 26, 2021

 

 

 

बिहार में मानव बलि मामले में चार गिरफ्तार, लड़की के मिला था क्षत-विक्षत शव

- Advertisement -
- Advertisement -

बिहार की मुंगेर पुलिस ने सोमवार को चार लोगों की गिरफ्तारी के साथ एक लड़की की हत्या के मामले को सुलझाने का दावा किया है। बता दें कि कुछ दिनों पहले एक लड़की का क्षत-विक्षत शव मिला था। पुलिस के अनुसार ये मामला मानव बलि से जुड़ा था।

जानकारी के अनुसार, आठ साल की बच्ची का क्षत-विक्षत शरीर, जिसकी दोनों आंखें बाहर निकली हुई थीं, पिछले हफ्ते एक सुनसान जगह पर देखा गया था और उसके गुप्तांगों पर चोट के निशान ने संदेह को जन्म दिया था कि उसके साथ बलात्कार किया गया था। हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन जांच में चौंकाने वाली बात सामने आई है।

मुंगेर के पुलिस अधीक्षक जे जे रेड्डी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि एक आरोपी दिलीप कुमार नया रामनगर थाना क्षेत्र के पदम गांव का रहने वाला है। स्वयंभू तांत्रिक परवेज आलम ने कहा था कि उसे अपनी पत्नी का गर्भपात रोकने के लिए एक लड़की की बलि देनी होगी।

कई वर्षों तक असफल प्रयास करने के बाद कुमार की पत्नी ने गर्भधारण किया था और इस जोड़े ने इसके पीछे आलम की जादुई शक्तियों को माना। तांत्रिक ने दंपति से कहा कि गर्भवती मां को एक कुंवारी लड़की के खून और आंखों के साथ “प्रतिष्ठित” ताबीज पहनने की जरूरत है।

दिलीप ने उसके ही गाँव के तनवीर आलम से परामर्श किया, जिसने जोड़े को जादूगर से मिलवाया था, और दशरथ, जो पास के एक गांव फ़रदा में रहते थे, से भी परामर्श किया। दशरथ ने कहा था कि वह अपने पोल्ट्री फार्म में बलि देने की व्यवस्था कर सकते हैं।

सब कुछ निर्धारित होने के बाद लड़की को पिछले गुरुवार को उठाया गया। जब वह गंगा के किनारे अपने मछुआरे पिता को दोपहर का भोजन देकर घर लौट रही थी। एसपी ने कहा कि तीनों खगड़िया में जादूगर से मिले और लड़की कि बलि दे दी।

एसपी ने कहा, “दिलीप के अलावा, हमने तनवीर और दशरथ को गिरफ्तार किया है। पुलिस की एक टीम खगड़िया भेजी गई, जहां से जादूगर को गिरफ्तार किया गया।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles