um

um

कथित गौरक्षा के नाम पर राजस्थान के अलवर में हुई उमर की हत्या के मामले में पुलिस ने चार और आरोपी को गिरफ्तार किया है. ये सभी आरोपी गौरक्षक है. पुलिस ने आरोपी के पास से हथियार भी जब्त किये. जिनसे उमर की हत्या की गई थी. साथ ही वाहन भी जब्त किया है.

ध्यान रहे 9 नवम्बर की देर रात अलवर जिले से भरतपुर स्थित अपने गांव से एक पिकअप में गाय लेकर जा रहे उमर, ताहिर और जावेद को कथित गौ रक्षकों ने रोक कर मारपीट की थी. साथ ही उमर की गोली मारकर हत्या कर दी थी. और उसके शव को पटरियों पर फेंक दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले में पुलिस 8 आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है. अलवर के सर्किल अधिकारी (दक्षिण) अनिल कुमार ने बताया कि उमर खान हत्या मामले में गत 12 नवम्बर को दर्ज शिकायत के सिलसिले में दशरथ गुर्जर (24), खुशीराम गुर्जर (35), रोहताश गुर्जर (24) बंटी उर्फ सुरजभान (50) को 12 बोर के अवैध देशी कट्टे के साथ् गिरफ्तार किया गया है, वहीं खुशीराम गुर्जर के पास से 315 बोर का देशी कट्टा बरामद किया गया है.

उन्होंने बताया कि मारगपुर निवासी दशरथ गुर्जर, खुशीराम गुर्जर और भरतपुर के रोहताश गुर्जर को 3 जनवरी को जबकि बंटी उर्फ सुरजभान को आज गिरफ्तार किया गया. सभी आरोपियों को भारतीय दंड संहिता की धारा 147,302,307,201 के तहत गिरफ्तार किया गया है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, उमर को दो गोलियां मारी गई थी. जिससे उसकी मौत हुई थी. साथ ही उसका क्षत-विक्षत कर पटरियों पर फेंक दिया गया था.