पूर्व सांसद अतीक अहमद को बरेली जेल ट्रांसफर किया गया

6:20 pm Published by:-Hindi News

पूर्व सांसद अतीक अहमद को देवरिया जिला जेल में सुविधा प्रदान करने के साथ ही अन्य मामलों में ढील देने के मामले में डिप्टी जेलर के साथ चार जेल कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही उन्हे देवरिया जिला जेल से सेंट्रल जेल बरेली शिफ्ट कर दिया गया।

दरअसल, देवरिया जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद पर आलमबाग के रियल एस्टेट कारोबारी मोहित जायसवाल को 26 दिसंबर को उनकी गाड़ी समेत घर से अगवा कराने का आरोप है। साथ ही ये भी आरोप है कि मोहित को देवरिया जेल में ले जाकर बैरक में पीटा गायब और कनपटी पर पिस्तौल सटाकर उनकी पांच कंपनियों का मालिकाना हक दो युवकों के नाम ट्रांसफर करवा लिया गया। इसके बाद जान से मारने की धमकी देकर भगा दिया और गाड़ी भी छीन ली गई।

सीएम योगी आदित्यनाथ के इस बड़े मामले को संज्ञान में लेने के बाद अब देवरिया जेल के डिप्टी जेलर देवकांत यादव को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही अन्य जेल कर्मियों को शिथिलता बरतने के मामले में निलंबित किया गया है। हेड वार्डर मुन्ना पांडे, वार्डर राकेश शर्मा के साथ वार्डर रामआसरे भी निलंबित किया गया है।

जिलाधिकारी अमित किशोर ने पूरे प्रकरण की जांच के लिए एडीएम प्रशासन राकेश कुमार पटेल की अध्यक्षता में चार सदस्यीय टीम का गठन किया है। टीम ने सोमवार की सुबह से लेकर दोपहर बाद तीन बजे तक जेल के भीतर विभिन्न पहलुओं की जांच की। बंदियों से मुलाकात कराने में जेल प्रशासन की खामियां उजागर हुई हैं। इसके साथ ही अन्य खामियां भी जांच टीम के सामने आई हैं। टीम की जांच रिपोर्ट डीएम ने शासन को भेजी है।

संयुक्त सचिव उत्तर प्रदेश शासन सूर्य प्रकाश सिंह सेंगर की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि देवरिया जेल में हुई घटना के बाद अतीक अहमद को जेल से तत्काल ट्रांसफर किया जाए। उन्होंने अपर पुलिस महानिदेशक कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवाएं को कहा है कि अतीक अहमद को बरेली जेल ट्रांसफर करके शासन को तत्काल सूचित करें। आदेश मिलते ही अतीक को ट्रांसफर किए जाने की तैयारियां की जाने लगीं। 

Loading...

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें