देश के साथ गद्दारी करने के लिए मध्य प्रदेश के सतना गिरफ्तार बजरंग दल के कार्यकर्ता राजीव और बलराम के बैंक खातों में पाकिस्तान से 10 करोड़ रु भेजे गए थे. इस राशि का बंटवारा जासूसी करने वाले इनके सभी साथियों के बीच हुआ था.

भोपाल से पकड़े गए भाजपा नेता ध्रुव सक्सेना, मनीष गांधी और मोहित अग्रवाल को जासूसी के लिए समानांतर टेलीफोन एक्चेंज चलाने पर हर महीने प्रति एक्सचेंज एक से डेढ़ लाख रुपए मिलते थे. सबसे ख़ास बात ये हैं कि इन सभी को पहले से ही जानकारी थी कि ये काम पाक के लिए जासूसी के रूप में हो रहा हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पिछले डेढ़ सालों में सतना के राजीव और बलराम के बैंक खातों में पाक से  5-5 करोड़ रुपए की फंडिंग हुई. जो सभी जासूसों तक पहुंचाई गई. इस बड़ी राशि से बची रकम जब्बार तक छतरपुर के संयोग ने पहुंचाई, जो जब्बार के जरिए पाकिस्तान भेजी गई. आईएसआई हैंडलर्स की तीन डेस्क बनाए गए थे.

अभी आरोपी बलराम, राजीव, संयोग और जब्बार एटीएस की रिमांड पर है. आरोपियों से लगातार पूछताछ की जा रही है. पूछताछ में आगे भी कई बड़े खुलासे होने के साथ आईएसआई जासूसी कांड से जुड़े लोगों की गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं.

Loading...