Saturday, December 4, 2021

पीलीभीत की पहली पसंद आज़म मीर खान

- Advertisement -

चुनावी सरगर्मियों में नेता लम्बे-लम्बे लिखे हुए भाषण देकर खुद को बहुत अच्छा समझते है जबकि जनता केवल नेता के काम पर विश्वास करती है। हद से ज़्यादा बोलना भी कैंडिडेट के लिए नुकसानदायक हो जाता है। क्योंकि वो जनता और उसके असल मकसद को समझ ही नहीं पाता है। और झूठे वादे करके लॉलीपॉप देकर रफूचक्कर हो जाता है। मौजूदा सरकार में बोलने वाले ऐसे-ऐसे धनुर्धारी है जो कुछ सेकण्ड में ही पानी मे आग लगा दे। लेकिन जनता के बीच उनका काम निल है। जिसके कारण उनको मुंह की भी खानी पड़ती है।

पीलीभीत की जनता ऐसे लोगो को एक लम्बे समय से जानती है जो नफरती बातें करके आपसी चैन सुकून, मेलजोल ख़त्म करना चाहते है। मेरा बड़ा साफ मक़सद है कि कोई भी ज़िला तब ही तरक़्क़ी करेगा जब सब धर्म, जाति, पंथ के लोग मिलकर कोशिश करेंगे।

मेरे अपने शहर के भाइयों/बहनो से विनती है कि राजनीति अलग चीज़ है सबसे पहले अपना भाईचारा, अमन क़ायम रखो जहां पर मोहब्बत होती है वहां राजनीति भी अच्छी होती है और ज़िला भी विकास की ओर गामज़न होता है। अंततः मेरा मकसद मोहब्बत है जहां तक फैले।

डॉ. आज़ममीर ख़ान जब 2012 में नई नवेली पीस पार्टी से कैंडिडेट थे जनता ने इसी प्रेम, मोहब्बत और अमन वाले पैग़ाम के कारण उनको बत्तीस हज़ार वोट से नवाज़ा था, जबकि उस वक़्त सूबा ए उत्तरप्रदेश के कद्दावर नेता, पुराने राजनीतिक पांच बार के विधायक मरहूम हाजी रियाज़ अहमद साहब ज़िंदा थे। हाजी साहब का इस दुनिया मे जाना सच मे बहुत दुःख का विषय है लेकिन इस समय पीलीभीत की जनता कोई ऐसा नेता नज़र नहीं आया जिसमे हाजी जी के बराबर दमदारी हो, जो जनता के मुद्दों को मज़बूती से उठा सके।

डॉ. आज़ममीर ख़ान साहब में पीलीभीत की जनता को वो खूबियां नज़र आती है जो पीलीभीत की जनता चाहती है क्योंकि डॉ. आज़ममीर ख़ान साहब को राजनीति का अच्छा अनुभव है वो एएमयू से ही छात्र राजनीति में सक्रिय चेहरा रहे है और अपने ज़िले के बहुत लोगो को उन्होंने इलाज, शिक्षा जैसे बुनियादी मसलों को हल करने का काम किया है।

वास्तव में पीलीभीत की जनता की कुछ ही डिमाण्ड रही है जिसमे शिक्षा और स्वास्थ्य मुख्य है। डॉ. आज़म मीर खान इन मुद्दों को भलीभांति समझते भी है क्योंकि वो स्वयं एक डॉक्टर है और शिक्षा के मैदान में भी उनका अहम योगदान है। अलीगढ़, जामिया, दिल्ली और इलाहाबाद में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की आपने उनके एंट्रेंस में भी मदद की है। कई छात्र-छात्राओं को कोचिंग के ज़रिए अच्छे कोर्स में एडमिशन कराया है इस कारण ही पीलीभीत की जागरूक जनता आज़म मीर ख़ान को अपने विधायक बनाने के लिए आतुर है।

डॉ. साहब ने जबसे समाजवादी पार्टी जॉइन की है तबसे जनता में भी उम्मीद की किरण नज़र आती है क्योंकि जब वो किसी पद पर नहीं थे तो लगातार जनता की मदद कर रहे थे। आने वाले समय मे अगर पार्टी प्रमुख का आशीर्वाद मिला और जनता ने अपना अप्रितम समर्थन दिया तो पॉवर के साथ जनता के मुद्दों पर जमकर काम करने का प्रयत्न करेंगे।
समाजवादी पार्टी की नीतियों का प्रचार-प्रसार में संलग्न आज़म मीर खान ने बताया कि जनता का उत्साह, पार्टी के पिछले कार्यो को पॉजिटिव रेस्पांस निश्चित ही 2022 में सफलता दिलाएंगे फिर से जनता से न्याय होगा सबको समानता का अधिकार मिलेगा

अकरम हुसैन कादरी 

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles