पश्चिम बंगाल में महिलाओं से बलात्कार की घटनाओं को लेकर आपत्तिजनक बयान देने के मामले में बीजेपी सांसद रूपा गांगुली के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. ये एफआईआर एक महिला ने नॉर्थ 24 परगना जिले में दर्ज कराई है.

निमता पुलिस ने आईपीसी की धारा 505 और 506 के तहत केस दर्ज जांच शुरू कर दी है. गांगुली ने पश्चिम बंगाल कि ममता सरकार पर  हमला करते हुए कहा था कि देशभर से पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी की सरकार का समर्थन करने वालो को अपने घर की किसी महिला को एक बार वहां भेजना चाहिए. ताकि उन्हें पता चल जाएगा कि ममता की मर्जी के बिना वहां आने वाली किसी भी महिला का 15 दिन के अंदर बलात्कार हो जाएगा.

 गांगुली ने ममता समर्थकों को चुनौती देते हुए कहा था कि वो लोग अपनी बेटी, बहन, बहू या फिर बीवी को बंगाल भेजे और अगर वो 15 दिन भी बिना बलात्कार हुए रह जाए तब आकर मुझे बताए.

रूपा के इस बयान पर क्रोधित राज्य के ऊर्जा मंत्री और तृणमूल के वरिष्ठ नेता सोभनदेब चटर्जी ने कहा, “वह खुद को संस्कारी महिला बताती हैं और इस तरह की टिप्पणी करती हैं. उन्होंने जो कुछ कहा है कि उससे बंगाल की छवि खराब हुई है.




कोहराम न्यूज़ को लगातार चलाने में सहयोगी बनें, डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें