यूपी के प्रतापगढ़ में AIMIM नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज की है। ये FIR पुलिस लाइन परिसर में स्थित मस्जिद में नमाज पढ़ने को लेकर की गई।

जानकारी के अनुसार, एआइएमआइएम के इसरार अहमद ने कार्यकर्ताओं और वकीलों के साथ पुलिस लाइन मस्जिद में जुमे की नमाज पढ़ी थी। इस मामले में आरआइ ने इसरार अहमद, सुजात उल्ला, अधिवक्ता जफरुल हसन और अन्य कार्यकर्ताओं पर बलवा, धार्मिक उन्माद फैलाने के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है।  इन सभी के खिलाफ नगर कोतवाली में 147, 149, 332, 153-B, 504 समेत धार्मिक उन्माद फैलाने के प्रयास की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

जानकारी के अनुसार,  प्रतापगढ़ पुलिस लाइन में स्थित मस्जिद में बाहरी लोग भी नमाज पढ़ने के लिए जाते थे। जिसके बाद सुरक्षा कारणों के मद्देनजर एसपी अभिषेक सिंह के निर्देश पर पुलिस लाइन स्थित मस्जिद में विभागीय लोगों के आलावा अन्य लोगों के नमाज पर रोक लगा दी गई। जिसके बाद उनके निर्देश पर पुलिस लाइन गेट पर बैरीकेटिंग कर दी गई। लेकिन चार दर्जन से अधिक संख्या में पहुंचे AIMIM के नेताओं ने इसका विरोध जताते हुए जबरन नमाज अदा की।

AIMIM के नेता इसरार अहमद ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगते हुए कहा की पुलिस लाइन परिसर में स्थित मस्जिद में मुस्लिम भाई कई वर्षों से नमाज अदा करते हैं, लेकिन आज प्रतापगढ़ पुलिस ने उनको नमाज अदा करने से रोक दिया। जिसके बाद दर्जनों मुस्लिम भाईयों की नमाज भी छूट गई। जबकि दर्जनों लोगों ने जबरन मस्जिद में पहुंचकर नमाज अदा की।

उधर पुलिस ने पूरे मामले में पुलिसलाइन की सुरक्षा की दलील देते हुए नमाजी को अंदर न जाने देने की बात कही है। एएसपी सुरेन्द्र द्विवेदी का कहना है मस्जिद पुलिसलाइन परिसर में स्थित है। अगर किसी को नमाज अदा करनी है तो प्रतापगढ़ पुलिस से परमीशन लेकर नमाज पढ़ सकता है। पुलिस के रूल में पुलिसलाइन परिसर में किसी भी व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहता है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन