गुवाहाटी: ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के चीफ बदरुद्दीन अजमल से संबंधित अजमल फाउंडेशन के खिलाफ विदेशी एजेंसियों कथित रूप से अलकायदा, हमास और हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े लोगों से धन प्राप्त करने के मामले में एफ़आईआर दर्ज की गई है।

ये एफ़आईआर सत्य रंजन बोराह ने कराई है। जिसे कट्टर हिंदुत्व का पैरोकार माना जाता है। उन्होने जमल फाउंडेशन पर विदेशों से धन एकत्र करने और संदिग्ध तरीके से उपयोग करने का आरोप लगाया। बोहरा ने एफआईआर में मांग करते हुए कहा, हम गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम के तहत इस संबंध में उचित जांच चाहते हैं। अजमल फाउंडेशन ने उन विदेशी निधियों का दुरुपयोग किया है।

इस संबंध में दिसपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। अजमल फाउंडेशन पर लगे आरोपों पर बोलते हुए असम सरकार में मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता हेमंत बिस्व सरमा ने कहा कि इस मामले की जांच की जानी चाहिए, अब तक कई बातें सामने आ चुकी हैं।

हालांकि एआईयूडीएफ ने बीजेपी नेता के इन दावों को सिरे से खारिज कर दिया। एआईयूडीएफ ने कहा कि पार्टी की छवि खराब करने के लिए बीजेपी ऐसे आरोप मढ़ रही है। अजमल फाउंडेशन पर लगे आरोपों पर सफाई देते हुए बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि विदेशी फंडिंग के आरोप झूठे हैं, यह AIUDF और अजमल फाउंडेशन को बदनाम करने की एक अंतरराष्ट्रीय साजिश है।

 

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano