FIR में हमले तक का जिक्र नहीं, अल्पसंख्यक आयोग की टीम पहुंची तबरेज के गांव

10:22 am Published by:-Hindi News

नई दिल्ली: झारखंड के कोल्हान प्रमंडल क्षेत्र में कथित चोरी के आरोप में 24 साल के तबरेज़ अंसारी की पिटाई के बाद हुई मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक तबरेज ने अपनी मौत से पहले दिए बयान में हमले का कोई जिक्र नहीं किया था।

तबरेज ने पुलिस को सिर्फ यह बताया था कि कैसे उसने दो और लोगों के साथ मिल कर मोटरसाइकिल चुराई थी और कुछ घरों से हल्ला होने पर लोगों ने उन्हें पकड़ लिया था। इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि तबरेज ने पुलिस को बताया कि कैसे एक मोटरसाइकिल चुराने के आरोप में लोगों ने उसे पकड़ा था। कथित मोटरसाइकिल चोरी के मामले में तबरेज के खिलाफ दर्ज की गई एफआईआर में भी हमले का कोई जिक्र नहीं है।

दूसरी और झारखंड राज्य अल्पसंख्यक आयोग की तीन सदस्यीय टीम ने मंगलवार को सरायकेला-खरसावां जिले में 24 वर्षीय तबरेज अंसारी के गांव का दौरा किया। आयोग के अध्यक्ष मोहम्मद कमाल खान ने कहा, ‘‘हमने मृतक के गांव, कदमडीह का दौरा किया, साथ ही घटनास्थल का भी दौरा किया और मृतक के परिवार के सदस्यों से जानकारी एकत्र किया है। उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा कि टीम ने जिले के अधिकारियों से भी मुलाकात की। उन्होंने कहा कि पुलिस और जिला प्रशासन ने अपराधियों को पकड़ने और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए सभी जरूरी उपाय किए हैं।

बता दें कि 17 जून की रात में खरसावां के क़दमडीहा निवासी तबरेज़ को कुछ लोगों ने खंभे में बांधकर बेदर्दी से पीटा थे। इस दौरान उससे नाम पूछ कर ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ के नारे भी लगवाए गए। तबरेज के पत्नी शाइस्ता परवीन ने पुलिस को अपनी शिकायत में कहा है कि 17 जून को उसके पति जमशेदपुर जा रहे थे, उसी दौरान धातकीडीह गांव में पप्पू मंडल और उनके लोगों ने उनके साथ मारपीट की।

तबरेज के पत्नी का कहना है कि उनलोगों ने रात भर उनके पति को बिजली के खंंभे में बांधकर रखा गया। इस दौरान उनसे जबरन जय श्री राम और जय हनुमान का नारा भी लगवाया गया। शाइस्ता परवीन ने शिकायत में कहा कि रातभर मारपीट किए जाने के बाद सुबह उनके पति को सरायकेला जेल भेज दिया गया। तबरेज़ की शादी इसी साल 27 अप्रैल को हुई थी।

वीडियो मे देखा जा सकता है कि किस तरह भीड़ बेरहमी से युवक को डंडों से पीट रही हैा इस मामले में पुलिस द्वारा 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के मुताबिक तबरेज अंसारी महाराष्ट्र के पुणे में वेल्डिंग का काम करता था। वह परिवार के साथ ईद की छुट्टियां मनाने अपने गांव खरसावां आया हुआ था।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें