बेगूसराय: काले झंडे दिखाने को लेकर हुई मारपीट, कन्हैया कुमार के खिलाफ FIR दर्ज

9:09 pm Published by:-Hindi News

लोकसभा चुनाव में सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार के रोड शो के दौरान रविवार को कोरैय गांव के चांद पेट्रोल पंप के समीप कुछ युवकों ने उन्हें काला झंडा दिखाया। इसके बाद मामला बढ़ते-बढ़ते मारपीट में तब्दील हो गई जिससे वहां अफरा-तफरी मच गई। इस मारपीट में 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए तथा 10 लोगों को मामूली चोटें आई हैं।

इस मामले में जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार और उनके समर्थकों के खिलाफ बेगूसराय जिले के गढ़पुरा थाने में एफाआईआर दर्ज कराई गई है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि कन्हैया कुमार के समर्थकों और स्थानीय लोगों के एक समूह के बीच रविवार को उस समय झड़प हो गई थी जब कुमार गढ़पुरा खंड के कोराय गांव में रोड शो कर रहे थे।

इस घटना में गंभीर रूप से घायल कुमार राहुल ने बताया कि कन्हैया कुमार ने गाड़ी से डंडा निकालकर दिया और कहा- मारो। जब मैंने झगड़ा होते देखा तब हम घर के अंदर भागे। फिर भी घर में घुसकर मारपीट की। सीपीआई ने भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा गढ़पुरा के कोरैय गांव में कन्हैया कुमार की गाड़ी के आगे काले झंडे दिखाते हुए आगे बढ़ने से रोकने की घटना की निंदा की। शांतिपूर्ण चुनाव प्रचार में बाधा पहुंचाना अपराध है। यह घटना पूर्णतः प्रोयोजित है।

कन्हैया कुमार ने इस पूरी घटना को विरोधियों की साजिश करार दिया और कहा कि ये विरोधियों की साजिश है जो यह जान गए हैं कि वो चुनाव हार रहे हैं। कन्हैया कुमार ने कहा है कि हताशा और बौखलाहट में आकर बीजेपी के लोग लोकतंत्र का मजाक उड़ा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसी को मेरा विरोध करना है तो इसका सबसे अच्छा तरीका है वह मुझे वोट नहीं दे। कन्हैया कुमार ने आगे कहा कि विरोध करने वाले भाजपा के समर्थक हैं और भाजपा के गुंडे हैं जो गुंडागर्दी पर उतारू हो गए हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसे लोग अगर समझते हैं वो मुझे इस तरह की कार्रवाई से डरा देंगे लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि मैं उनसे डरने वालों में से नहीं हूं। कन्हैया कुमार ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग आम लोगों में भ्रम पैदा करना चाहते हैं इसके लिए वो दूसरे के कंधे पर बंदूक रखकर राजनीति कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि बेगूसराय के आम लोग मुझसे खुश हैं उत्साहित हैं उनको मुझ से कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि बेगूसराय की जनता खुश है कि ये चुनाव राष्ट्रीय नहीं अंतरराष्ट्रीय चुनाव बन गया है।

कन्हैया ने कहा कि मुझे लगता है कि यह मिलीभगत का नतीजा है क्योंकि अगर मैं खाना भी खाता हूं तो सर्विलांस की टीम वहां मौजूद रहती है पर जब कोई घटना घटती है तो सर्विलांस टीम गायब रहती है।  कन्हैया कुमार का आरोप है कि सरकार गलत तरीके से सत्ता का दुरूपयोग कर लोकतंत्र के मूल्य को बदनाम करने का काम कर रही है। बता दें कि बेगूसराय सीटपर कन्हैया कुमार का मुकाबला केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह और राजद के तनवीर हसन से है।

Loading...