लखनऊ। लखनऊ में कांग्रेस की पूर्व सांसद और सोशल मीडिया सेल की संयोजक दिव्या स्पंदना उर्फ राम्या के खिलाफ पीएम मोदी के खिलाफ विवादित ट्वीट करने के आरोप में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है। भाजपा नेताओं ने उनके खिलाफ गोमतीनगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

मामले की जानकारी देते हुए क्षेत्राधिकारी चक्रेश मिश्रा ने बताया कि विवेकखंड निवासी अधिवक्ता सैय्यद रिजवान अहमद ने मंगलवालर के दिन दिव्या स्पंदना के खिलाफ तहरीर दी थी, जिसके बाद आईटी एक्ट में एफआईआर दर्ज की गई। साथ ही मामले की जांच को साइबर सेल को सौंप दिया गया है।

रिजवान अहमद ने अपनी शिकायत में कहा है कि दिव्या स्पंदना ने सोमवार (24 सितंबर) को पीएम मोदी का आपत्तिजनक फोटो ट्वीट करते हुए उन्हें चोर कहा था। बतौर रिजवान स्पंदना के इस ट्वीट से प्रधानमंत्री और भारत सरकार के प्रति देशवासियों में घृणा और अवमानना की भावना पैदा करने की कोशिश की गई है जो एक तरह से देशद्रोह है।

एफआईआर दर्ज होने के बाद रिजवान अहमद ने उसकी कॉपी ट्विटर पर शेयर की है और लिखा है, “दिव्या स्पंदना के विरुद्ध धारा 124आ (राष्ट्रद्रोह) 67 आई टी एक्ट में मुकदमा दर्ज। धन्येवाद @[email protected] जी आपकी लीगल टीम को और सक्रिय होना होगा। मैंने और ट्विटर साथियो ने कारवाही की क्यो की आप देश के प्रधानमंत्री हैं न कि किसी दल के..आप सब को मुबारक!”

बता दें कि स्पंदना के इस ट्वीट को अब तक 3700 से ज्‍यादा लोग रिट्वीट कर चुके हैं वहीं 12 हजार लोग लाइक चुके हैं। वहीं इस ट्वीट पर अब तक छह हजार से ज्‍यादा कॉमेंट आ चुके हैं।