मंदसोर में शुरू हुए किसान आंदोलन ने पुरे मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ को अपनी चपेट में लिया हुआ है. ऐसे में अब ये आंदोलन पड़ोसी राज्य राजस्थान में भी पहुँच चूका है. राष्ट्रीय किसान महापंचायत के बैनर तले गत दो साल से संघर्ष कर रहे किसानो ने मंदसौर कूच करने का फैसला किया है.

राष्ट्रीय किसान महापंचायत के अध्यक्ष रामपाल जाट ने बुधवार को बताया कि प्रतापगढ़ के किसानों ने अपनी मांगों को लेकर कल धरना देकर प्रदर्शन किया. आन्दोलनरत किसान मध्यप्रदेश के किसानों के आन्दोलन को सहयोग करने के लिए मंदसौर जाने का निर्णय लिया है.

वहीँ भारतीय किसान संघ के बैनर तले किसान 15 जून को पुरे राजस्थान में आक्रोश रैली निकालेंगे. राजस्थान में विपक्ष के नेता ने रामेश्वर दूड़ी ने वसुंधरा राजे सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के जैसे राजस्थान के किसानों को भी परेशान किया जा रहा है.

इसके अलावा भाजपा के वरिष्ठ विधायक एवं राज्य के पूर्व शिक्षा मंत्री घनश्याम तिवाड़ी ने वसुंधरा सरकार के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है. उन्होंने कहा, मय रहते किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं किया गया तो राजस्थान में कभी भी किसान आन्दोलन भड़क सकता है, राज्य में हालात गंभीर हैं.

उन्होने कहा, प्रदेश के किसान उपज का उचित मूल्य नहीं मिलने, सिंचाई का पानी पर्याप्त रूप से नहीं मिलने समेत अन्य कई समस्याओं के कारण अत्यधिक परेशान हैं. सरकार ने समय रहते इस ओर ध्यान नहीं दिया तो महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश जैसा किसान आन्दोलन राजस्थान में भड़क सकता है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?