banda

banda

उत्तरप्रदेश में किसानों के लिए कर्ज माफ़ी की योजना सिर्फ एक छलावा साबित हुई जिसके चलते किसानों का आत्महत्या का सिलसिला अब भी जारी है.

मामला बांदा का है. जहाँ एक युवा किसान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम खत में अपनी दर्द भरी दास्तान लिखने के बाद अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली है. पुलिस के अनुसार, बांदा से कुछ दूर कनवारा गांव निवासी अनुज वाजपेयी (22) ने शुक्रवार शाम अपने कमरे में अपनी मां की साड़ी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम लिखे सुसाइड नोट में अनुज ने बताया कि किसान के पिता पर बैंक और साहूकारों का लाखों रुपये का कर्ज था. कई बार जिला प्रशासन से मदद मांगी मगर कोई आश्वासन नहीं मिला.

farmer suicide note 650

अनुज घर का बड़ा बेटा था. उसके तीन भाई और एक बहन हैं. अनुज के पिता की दिमागी हालत ठीक नहीं है, इसलिए कर्ज अदा करने की जिम्‍मेदारी उसके ऊपर ही थी.

गौरतलब है कि बुंदेलखंड में बीते दस साल में चौथी बार सूखे का संकट मडराने से पहले ही बुरी तरह तबाह हो चुके किसानों की आत्महत्या करने का सिलसिला कई साल से थमने का नाम नहीं ले रहा. जारी साल में ही मंडल के सभी जिलों में किसानों की आत्महत्या के मामलों पर नजर डालें तो आंकड़ा सौ से ऊपर पहुंच चुका है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?