गुजरात हाईकोर्ट ने सोशल मीडिया के जरिये होने वाली शादियों पर टिप्पणी की है. कोर्ट ने कहा कि ऐसी शादियों का टूटना लगभग तय है.

न्यायाधीश जेबी पर्दीवाला ने शादी से जुड़े एक मामले में कहा है कि फेसबुक  के जरिए होने वाली शादियों का टूटना तय है. पर्दीवाला ने यह टिप्पणी अपने 24 जनवरी के आदेश में की. यह मामला घरेलु हिंसा से जुड़ा था.

इस मामले में राजकोट की फैंसी शाह ने पति जयदीप शाह और सास-ससुर पर दहेज के लिये उन्हें प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. फरवरी 2015 में दोनों की शादी माता-पिता की रजामंदी से हुई थी. लेकिन कुछ ही दिनों बाद दांपत्य जीवन में परेशानी आने लगी.

न्यायाधीश ने कहा, ‘उनकी शादी हुई और दो महीने के भीतर उनके वैवाहिक जीवन में समस्या आने लगी. मैं इस तथ्य पर गौर करूंगा कि पक्षों ने मामले का समाधान करने का प्रयास किया. हालांकि समझौता नहीं हो सका.’ उन्होंने कहा, ‘यह फेसबुक पर निर्धारित आधुनिक शादियों में से एक है, जिसका विफल होना तय है.’

उन्होंने ये भी कहा कि लड़के-लड़की ने सुलह की कई कोशिश कर ली लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ. अदालत ने फिलहाल लड़के के परिवार वालों के खिलाफ आरोपों को रद्द कर दिया है. जबकि पति के खिलाफ सुनवाई होती रहेगी. अदालत ने कहा कि शादी समाप्त होने के बाद वे नये सिरे से जिंदगी शुरू कर सकते हैं.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें