Thursday, January 20, 2022

एमएसओ कानपुर यूनिट की स्थापना, मौलाना नज़र को जिलाध्यक्ष की ज़िम्मेदारी

- Advertisement -

30 अक्तूबर 2019 कानपुर। मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजर ऑफ इंडिया (एम.एस.ओ.) की ज़िला स्तरीय मीटिंग शहर के रोशन नगर मे आयोजित की गई, जिसमें ज़िले के छात्रों व नौजवानो ने हिस्सा लिया।

कार्यक्रम का उदघाटन अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से आए संगठन के पूर्व अध्यक्ष मौलाना सय्यद नूर आलम मिसबाही ने किया। उन्होने बताया कि एम.एस.ओ. सभी स्कूल कॉलेज व यूनिर्वसिटीज में छात्रों के साथ मिलकर उनके बीच नैतिकता की मुहिम चला रही है ताकि छात्रो के बीच पनप रहीं बुराईया खत्म की जा सके एवं छात्र शक्ति का सदुपयोग समाज एवं देश हित में किया जा सके।

मिसबाही ने नौजवानों से सूफीवाद की बहुप्रशंसित व प्रचलित विचारधारा को आम करने का आह्वान किया और कहा कि छात्र अपनी सलाहियत और शक्ति का सदुपयोग देश हित में करे और भारत को एक विकसित व शिक्षित मुल्क बनाने में अपना योगदान दे। छात्रो को चाहिए कि वोह समाज में पनप रही बुराईयों को दूर करने का संकल्प ले। उन्होंने कहा मुस्लिम नौजवानों को शिक्षा के मैदान में आगे आना होगा, तभी मुस्लिम समाज की दयनीय स्तिथि से निपटा जा सकता है।

दिल्ली से आए राष्ट्रीय कार्यकरिणी के सदस्य और दिल्ली प्रदेश के महासचिव मुहम्मद साक़िब बरकाती ने सर्वसम्मिति से ज़िले की कार्यकारिणी का गठन किया, जिसमे मौलाना नज़र को जिलाध्यक्ष, मोहम्मद फेसल को महासचिव, मोइन अली रिजवी को कोषा अध्यक्ष चुना गया, सुहेल अहमद तथा आदिल बरकाती को उपाध्यक्ष, शफ़ीक़ बरकाती व जीशान अजहरी को संयुक्त सचिव तथा आरिफ रज़ा को कैम्पस सचिव के पद पर चुना गया, इसके साथ ही कार्यकारिणी मे 7 सदस्यो को भी मनोनीत किया गया।

mso

अपने सम्बोधन मे साकिब बरकाती ने ने कहा कि नौजवान और छात्रों से भविष्य का निर्माण होता है, उनके अमल से ही समाज और देश की दशा व दिशा तय होती है अतः छात्रों को चाहिए कि वोह शिक्षा के साथ साथ अपने अंदर संस्कृति भी पैदा करे और सुफिया ए किराम के रास्ते पर खुद चले और दूसरों को भी इसी राह पर चलने की दावत दे, यही वो रास्ता है जो अमन व शांति का तथा भाईचारा का रास्ता है।

उन्होंने कहा कि मुस्लिम नौजवान जहा भी रहे वहा पर मुकम्मल तौर पर मजहबे इस्लाम की पैरवी करे और दूसरों को भी इस पर चलने की दावत दे, और नौजवानों को चाहिए को समाज में जो नैतिक गिरावट आरही है उसको दूर करे। इस अवसर पर बिलाल रज़ा, मुहम्मद फ़ैज़, मुहम्मद वासिक बेग, मुहम्मद जीशान, इमरान बरकाती, बिलाल कादरी तथा जीशान अंसारी के साथ अन्य लोग मौजूद रहे।

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles