malakमहाराष्ट्र के मलकापुर के बुलढाणा कस्बे में जश्ने ईद-मिलादुन्नबी के जलसे पर हुए पथराव के बाद से ही शहर में साम्प्रदायिक तनाव फैला हुआ हैं. इस मामलें में पुलिस ने एक पक्षीय कारवाई करते हुए जलसे से 300 से अधिक मुस्लिमों को गिरफ्तार किया हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, ईद-मिलादुन्नबी के एक दिन पहले इस्लाम धर्म के पैगम्बर की शान में आपतिजनक टिपण्णी की गई थी. जिसके बाद से ही इलाके में हालात तनावपूर्ण थे. बावजूद इसके पुलिस ने अगले दिन ईद-मिलादुन्नबी के जलसे में सुरक्षा में लापरवाही बरतते हुए सिर्फ 70 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया.

ईद-मिलादुन्नबी के इस जलसे में 25000 से ज्यादा भीड़ थी. ये जलसा शहर से गुजर रहा था कि पुलिस की मोजुदगी में ही जलसे पर पथराव हुआ. जिसके बाद मुस्लिम युवाओं ने भी अपने बचाव में जवाबी कार्रवाई करते हुए पत्थराव किया जिसकी वजह से माहौल खराब होता चला गया. इस पथराव से 10 से ज्यादा पुलिसकर्मी और कई नागरिक घायल हो गये.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले को सपा विधायक अबू आजमी ने मंगलवार को विधानसभा में भी उठाया, उन्होंने इसके लिए पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता को जिम्मेदार ठहराते हुए पीड़ितों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और मुआवजा देने की मांग की हैं. उन्होंने कहा कि दंगाई मुसलमानों की सम्पति को नुकसान पहुंचा रहे, डर की वजह से लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे, मुख्यमंत्री को जांच शुरू करने और दोषियों को गिरफ्तार करने के आदेश देने चाहिए.

Loading...