Thursday, August 5, 2021

 

 

 

ईद मिलादुन्नबी का वैश्विक जुलूस आज जयपुर में, चुनाव के माहौल में शांति बनाए रखने की अपील

- Advertisement -
  • पैग़म्बर मुहम्मद साहब की जयंती का जश्न बुधवार को
  • जुलूस में जयपुर का नाम दुनिया भर में मशहूर
  • शांति और व्यवस्था के प्रति उलेमा का आह्वान
  • चुनाव के माहौल में शांति बनाए रखने की अपील
- Advertisement -

जयपुर20 नवम्बर। शहर में ईद मीलादुन्नबी का जुलूस बुधवार को निकाला जाएगा। जयपुर का जुलूस विश्व के सबसे बड़े जुलूसों में से एक है और इसमें लाखों लोग शरीक होते हैं। इसकी खास बात यह है कि शहर के चार बड़े हिस्सों से जुलूस रामगंज में एक साथ मिलकर बड़े जुलूस में तब्दील हो जाते हैं जो शाम को करबला में जाकर विसर्जित होगा।

जुलूस के मुख्य प्रबंधक हाजी रफत ने बताया कि बुधवार को मुख्य जुलूस घाट गेट से रवाना होगा जो रामगंज से चार दरवाज़ा होते हुए सुभाष चौक पहुँचेगा। यहाँ यह जोरावर सिंह गेट होते हुए करबला पर विसर्जित होगा। रामगंज पर जब यह जुलूस पहुँचेगा इसमें पहाड़गंज, शास्त्री नगर और चांदपोल के तीन बड़े जुलूस मिल जाएंगे जिसके बाद शहर का नज़ारा देखने लायक होगा। लाखों लोग इस्लाम, पैग़म्बर मुहम्मद साहब, शांति, सह अस्तित्व और देशप्रेम के यशगीत गाते हुए करबला पहुँचेंगे जहाँ मुख्य कार्यक्रम होगा जिसमें शहर मुख्य मुफत्ती अब्दल सत्तार रिज़वी, सुन्नी दावते इस्लामी के प्रमुख सैयद मुहम्मद क़ादरी, जयपुर शहर उपमुफ्ती ख़ालिद अयूब मिस्बाही, मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शुजात अली क़ादरी समेत प्रमुख हस्तियाँ करबला के मुख्य कार्यक्रम में शरीक होंगे।

जयपुर में क़रीब पाँच लाख लोगों के जुलूस की गिनती इराक़पाकिस्तानबांग्लादेश और इंडोनेशिया के बड़े जुलूसों में होती है। सेंट्रल मीलाद बोर्ड,वाहिद मेमोरियल सोसाइटीमुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गेनाइजेशन (MSO) तथा सुन्नी दावते इस्लामी के तत्वाधान में पैगम्बर मुहम्मद साहब के जन्मदिवस पर चार दरवाज़ा स्थित मौलाना जियाउद्दीन सर्किल से जुलूस का आगाज़ होगा।

जुलुस से पूर्व जनता से अपील करते हुए हाजी रफत ने कहाकि चुनाव के मौके पर असामाजिक तत्वों से बचने की आवश्यकता है। उन्होंने युवाओं से अपील की कि वह असामाजिक तत्वों पर नज़र रखें और पुलिस एवं प्रशासन को सहयोग करें। उन्होंने कहाकि यह त्योहार विश्व शांति के संस्थापक पैग़म्बर मुहम्मद साहब की शिक्षाओं पर आधारित है और इसकी गरिमा को बनाए रखने में सहयोग करें।

मुख्य वक्ता सुन्नी दावते इस्लामी राजस्थान प्रांत सदर मौलाना सय्यद मुहम्मद क़ादरी ने  कहाकि यह जुलूस सूफ़ीवाद की शिक्षाओं को सार्वजनिक करने के लिए आयोजित किया जा रहा है। सुन्नी सेण्टर जयपुर के मौलाना अंसारुल फैजी ने पैगम्बर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए  बताया कि अल्लाह ने पैगम्बर को पूरी दुनिया और सभी धर्मो के मानने वालो के लिए  मार्गदर्शक और रहनुमा बनाकर भेजा है इसीलिए जुलूस में यथासंभव शांति बनाए ऱखने की आवश्यकता है।

आयोजन समिति के सदस्यों वाहिद यजदानीहाजी भूरी खानमुस्तफा तन्ज़ेनाईटहाजी  नायाब का मानना है कि शहर के जुलूस में बाहर के सभी वार्डो के साथ चौमुचाकसूशाहपुराताला  तथा सांगानेर से भी लोग शरीक होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles