पश्चिम बंगाल: हावड़ा जिले के एक स्कूल में सरस्वती पूजा को लेकर उपजे विवाद के बाद  राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आदेश जारी किया है कि ईद मिलादुन्नबी (सल्ल.) राज्य के सभी सरकारी पुस्तकालयों में मनाया जाएगा. इस आदेशनुसार राज्य के सभी 2 हजार से अधिक सरकारी पुस्तकालयों में साल के दूसरे प्रस्तावित इवेंट की तरह ईद मिलादुन्नबी (सल्ल.) मनाने को कहा गया हैं.

सरकार प्रत्येक इवेंट मनाने के लिए हर सरकारी पुस्तकालयों को 1000 रुपए की आर्थिक मदद करेगी. वहीँ मुस्लिम विरोधी बीजेपी ने सरकार के इस कदम की आलोचना करते हुए कहा है कि इससे पहले नबी दिवस मनाने की कोई परंपरा नहीं रही है, ये अल्पसंख्यक तुष्टिकरण को ध्यान में रखकर उठाया गया एक और कदम है.

11 जनवरी को 2017 को जारी की गये आदेश के अनुसार 51 इवेंट सूची में शामिल हैं. इसी में जश्ने ईद मिलादुन्नबी (सल्ल.) भी शामिल हैं, जो पैगम्बर ए इस्लाम की यौमे पैदाइश के रूप में मनाया जाता हैं.

गौरतलब रहें कि फरवरी माह में हावड़ा जिले के तेहट्टा हाई स्कूल में सरस्वती पूजा तरह मुस्लिम छात्रों ने ‘नबी’ दिवस मनाने की मांग की थी. ज्सिके बाद स्कूल सहित आसपास के इलाकें में विवाद बढ़ गया था. स्कूल ने नबी दिवस आयोजित करने की इजाजत नहीं दी थी. जिसके बाद स्कूल प्रशासन पर सरस्वती पूजा पर भी रोक लगाने का दबाव बना हुआ था. जिसके चलते स्कूल प्रशासन ने सरस्वती पूजा के समय स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें