Friday, July 30, 2021

 

 

 

जब ड्राइवर हुआ रिटायर हुआ था, कलेक्टर साहब गाड़ी चलाकर घर छोड़ने पहुंचे

- Advertisement -
- Advertisement -

तमिलनाडु में एक जिला कलेक्टर ने अपनी दरियादिली की ऐसी मिसाल पेश की. जिसकी जितनी तारीफ़ की जाए उतनी ही कम है. दरअसल, कलेक्टर साहब अपने ड्राईवर के रिटायर होने पर खुद गाड़ी चलाकर घर छोड़ने पहुंचे.

तमिलनाडु के करूर जिले के कलेक्टर टी. अन्बाझगन की एक फोटो वायरल हो रही है. जिसमे वे अपने ड्राइवर के लिए गाड़ी का गेट खोलते नजर आ रहे हैं.  बता दें कि कलेक्टर कार्यालय में ड्राइवर के पद पर तैनात पारामासिवम 30 अप्रैल को 35 साल की लंबी सेवा के बाद रिटायर हुए.

उनके रिटायरमेंट को कलेक्टर टी. अन्बाझगन ने प्लानिंग कर यादगार बनाया. उन्होंने पारामासिवम और उनकी पत्नी को दफ्तर में सोने का सिक्का औऱ शॉल देकर सम्मानित किया. इसके बाद खुद ड्राइविंग सीट की कमान संभाली और पारामासिवम और उनकी पत्नी को घर तक पहुंचाया.

karur collector driver

टी. अन्बाझगन ने पारामासिवम के रिटायर होने के उपलक्ष्य में शानदार पार्टी भी रखी. जिसमें पूरे कार्यालय ने शिरकत किया. द न्यूज मिनट से बात करते हुए  पारामासिवम ने कहा कि, जब कलक्टर साहब ने मेरे लिए खुद गाड़ी चलाने की घोषणा की तो मैं सन्न रह गया. मुझे बहुत खुशी हुई. घर पहुंचने के बाद कलेक्टर टी. अन्बाझगन ने पारामासिवम के परिवार के साथ चाय पी औऱ काफी वक्त भी बिताया. बाद में कलेक्टर

टी. अन्बाझगन ने कहा कि, ‘अगर एक कलेक्टर दिन में 16 घंटे काम करता है तो उसका ड्राइवर 18 घंटे काम करता है’. उन्होंने पूरी जिंदगी हमें घर पहुंचाया. इसीलिये मैं उन्हें उनकी सेवा के लिए सम्मानित करना चाहता था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles