उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए टिकट बंटवारे के बाद से ही भाजपा कार्यकर्ताओं में काफी गुस्सा हैं. इसी बीच 14 जिलों की मीटिंग लेने पहुंचे यूपी बीजेपी चीफ केशव प्रसाद मौर्या प्रदेश प्रभारी ओम माथुर का कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया. भाजपा कार्यकर्ताओं ने दोनों प्रमुख नेताओं के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए.

बीजेपी काशी प्रांत से जुड़े 14 जिलों के पदाधिकारियों की बुलायी गई बैठक में शिरकत करने पहुंचे दोनों नेताओं को एयरपोर्ट पर ही वाराणसी, जौनपुर, मिर्जापुर, भदोही आदि जिलों से पहुंचे कार्यकताओं के विरोध एवं नारेबाजी का सामना करना पड़ा. दावेदारों के समर्थकों ने आरोप लगाया कि टिकट बंटवारे में पैसे लेकर खेल किया गया है. जिन नेताओं को टिकट मिलना चाहिए था उन्हें नहीं मिला बल्कि ऐसे लोगों को टिकट दे दिया गया है जिनका कोई जनाधार नहीं है.

प्रदेश अध्यक्ष कार्यकर्ताओं को शांत कराने की कोशिश करते रहे लेकिन कार्यकर्ता उनके एवं राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ नारेबाजी करते रहे. विरोध होता देख केशव मौर्या ने बैठक से बाहर भी जाने की गुजारिश कर दी. उन्‍होंने मंच से कहा, अगर 2017 नहीं जीते तो 2019 नहीं जीत पाएंगे. इस दौरान भाजपा कार्यकर्ता ओम माथुर के सामने जमीन पर लेट गए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सबसे ज्यादा विरोध शहर दक्षिणी के विधायक श्यामदेव राय चौधरी दादा के टिकट काटे जाने का हो रहा है. इसको देखते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दादा को मनाने के लिए उनके घर पहुंचे. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश के सह प्रभारी सुनील ओझा ने पैसे लेकर टिकट बांटे हैं.

Loading...