digvijay-singh

मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के रिष्ठ नेता सुंदरलाल पटवा एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम वर्मा ने कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह को ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ बताते हुए कहा कि उन्होंने कोई भ्रष्टाचार भी नहीं किया. ये बात उन्होंने भोपाल अदालत में लिखकर भी दी.

दरअसल 1998 के विधानसभा चुनाव के दौरान सुंदरलाल पटवा एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री विक्रम वर्मा ने दिग्विजय सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वे हवाला कांड के आरोपी बीआर जैन से मिले हुए हैं. उन्हें भिलाई में जमीन दिलाई गई. पटवा ने दावा किया था कि दिग्विजय सिंह को दिल्ली में आउट ऑफ टर्न मकान दिया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिसके बाद दिग्विजय सिंह ने दोनों पर मानहानि का मुक़दमा दर्ज करा दिया था. इस दौरान बीजेपी नेता अपने आरोप साबित नहीं कर पायें. आखिर में दोनों पक्षों ने समझोता कर आपसी सहमति और बिना शर्त प्रकरण वापस ले लिया.

एमएफसी नौशीन खान ने प्रकरण वापस लेने के आवेदन पत्र को स्वीकार करते हुए पटवा और वर्मा के खिलाफ चल रहा मामला हमेशा के लिए नस्तीबद्ध कर दिया.

Loading...