देवबंद: पाकिस्तानी मूल के लेखक तारिक फतेह के जी न्यूज़ पर प्रसारित हो रहे टीवी शो ‘फतेह का फतवा’ में उनकी इस्लाम धर्म के खिलाफ की जा रही बयानबाज़ी को लेकर सहारनपुर के देवबंद में हजारों मुस्लिम महिलाओं ने प्रदर्शन किया.

इन महिलाओं के हाथों में तारेक फतह को फांसी दो लिखी हुई तख्तियाँ थी. ये महिलाएं जुलूस दारुल उलूम चौक से होते हुए रशीदीया, मस्जिद खानकाह पुलिस चौकी पर पहुची. इन महिलाओं ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम तहसीलदार को एक ज्ञापन भी सौंपा.

महिलाओं का प्रतिनिधित्व कर रहीं मअहद आयशा सिद्दीक़ा कासिमुल उलूम लिलबनात देवबंद की प्रिंसिपल इफ्फत नदीम ने कहा कि उनका यह विरोध शैतान तारेक फतह के खिलाफ है, जो पाकिस्तान का भगोड़ा है और एक समाचार चैनल पर बैठकर मुसलसल मुसलमानों और इस्लाम के खिलाफ बयानबाजी कर रहा है.

उन्होंने अपनी मांग रखते हुए कहा कि हमारे देश भारत से तारेक फतह को निर्वासित किया जाए. उन्होंने फतह की वीजा रद्द करने की मांग की. साथ ही साथ कहा कि उनको कभी देश में न आने दिया जाए, क्योंकि वह देश में हिंदू-मुस्लिम दंगे कराना चाहता है.

वहीँ शबा एजाज ने कहा कि फतह हमारे देश में नफरत फैला रहा है. हमारी व्यवस्था में हस्तक्षेप कर रहा है और नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की शान में गुस्ताखी कर रहा है. तारेक फतह जैसा इंसान हमें हमारे इस गंगा जमुनी तहज़ीब वाले देश में बिल्कुल पसंद नहीं है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें