note

note

नोटबंदी के 14 माह बीतने के बाद कानपुर में पुराने नोटों का एक बड़ा जखीरा पकड़ा गया है. साथ ही कानपुर के दो नामी लोगों समेत सात को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ लोग शहर के बड़े व्यापारियों के पास छिपाकर रखे गए पुराने नोट लेने आए हैं जो एक होटल में रुके हैं. जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाही कर नकदी बरामद की. कानपुर के एसएसपी एके मीणा ने बताया कि पूछताछ की जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारियों और आयकर विभाग का दल शीघ्र ही जब्त की गयी राशि की सटीक जानकारी देंगे. पुलिस महानिरीक्षक (कानपुर क्षेत्र) आलोक सिंह इस मामले की निगरानी कर रहे हैं. अनुमान के मुताबिक जब्त की गयी रकम करीब 90 करोड़ रुपये तक की हो सकती है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों मेरठ के एक बिल्डर संजीव मित्तल के पास से पुलिस ने 25 करोड़ के पुराने नोट बरामद किए थे. इसके बाद एनआईए को जानकारी मिली थी कि यूपी में कानपुर समेत कई जिलों में मनीचेंजर गैंग सक्रिय है.

बता दें कि 8 नवंबर 2016 को रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान कर 500 और 1000 के नोटों को अमान्य कर दिया था. जिसके बाद 500 और 2000 के नए नोट जारी किये गए थे.