दिल्ली हाईकोर्ट ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर 20 हजार का जुर्माना लगाया है. ये जुर्माना जेएनयू के पूर्व छात्र द्वारा कॉपीराइट के उल्लंघन पर दायर कानूनी वाद में लगाया गया है.

कोर्ट ने नीतीश कुमार पर जुर्माना लगाने के साथ-साथ उस आवेदन को भी खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने अपना नाम पक्षकारों से हटाने का आग्रह किया था. संयुक्त रजिस्ट्रार संजीव अग्रवाल ने आदेश पारित करते हुए कहा कि आवेदन कानून की प्रक्रिया का दुरुपयोग है, क्योंकि याचिकाकर्ता (शिक्षाविद) को प्रतिवादी चुनने का हक है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दरअसल, जेएनयू के पूर्व छात्र अतुल कुमार सिंह ने आरोप लगाया कि पटना स्थित एशियन डेवलपमेंट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एडीआरआई) द्वारा अपने सदस्य सचिव शैबल गुप्ता के ज़रिये और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अनुमोदन से प्रकाशित पुस्तक उनके शोध कार्य का चुराया हुआ संस्करण है.

हालांकि इस पर नीतीश कुमार की और से कहा गया कि उनके ख़िलाफ़ कोई मामला नहीं बनता और उन्हें द्वेषपूर्ण मंशा से शर्मिंदा करने के लिए पक्षकार बनाया गया है. लेकिन हाईकोर्ट ने मुख्यमंत्री की दलीलों को खारिज कर दिया.

Loading...