adhyatmik university 620x400

adhyatmik university 620x400

दिल्ली के उत्तरी इलाके रोहिणी में स्थित आध्यात्मिक विश्वविद्यालय पर धर्म और आस्था के नाम पर चल रहे सेक्स रेकेट के खुलासे के बाद आज पुलिस ने कार्रवाई कर बाबा वीरेंद्र देव दिक्षित के आश्रम से 41 नाबालिग लड़कियों को रिहा करवाया है.

पुलिस ने आश्रम की इंचार्ज और एक गार्ड को हिरासत में लिया है जबकि आरोपी बाबा अब भी फरार है. पुलिस ने ये कार्रवाई दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश पर की है. ईकोर्ट ने बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित को 4 जनवरी तक पेश करने का आदेश दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया से बातचीत में पीड़ित लड़कियों ने बताया कि आरोपी बाबा भगवान कृष्ण की तरह 16 हजार पत्नियां बनाना चाहता था. वह आश्रम में रहने वाली लड़कियों के मुताबिक आरोपी बाबा रोजाना 10 लड़कियों का रेप करता था. साथ ही लड़की के पहले मासिक धर्म के आने के साथ ही उनका बलात्कार करता था.

बाबा ने आश्रम की हर लड़की के मासिक धर्म की जानकारी रखी हुई थी. जैसे ही किसी लड़की को मासिक धर्म होता तो आरोपी उसे अपने कमरे में ले जाता था, जहां पर वह उसके साथ शारीरिक संबंध बनाता था.

आरोपी बाबा ने करीब 30 साल पहले इस आश्रम को बनाया था, आरोपी बाबा ने इस तरह के आश्रम पूरे देश में खोल रखे हैं जहां पर प्रत्येक आयु की लड़कियां रहती हैं. हाईकोर्ट ने मामले में बाबा वीरेंद्र के आठ आश्रमों की लिस्ट और डिटेल मांगी है.