Thursday, October 21, 2021

 

 

 

कोपार्डी गैंगरेप और हत्या के मामले में तीनों दोषियों को मौत की सजा

- Advertisement -
- Advertisement -

अहमदनगर: महाराष्ट्र की एक विशेष अदालत ने अहमदनगर जिले के कोपार्डी गांव में 14 साल की किशोरी के साथ दुष्कर्म और बर्बर हत्या के मामले में तीनों दोषियों को बुधवार को मृत्युदंड की सजा सुनाई है. ये घिनोना काण्ड जुलाई 2016 में अंजाम दिया गया था.

विशेष जन अभियोजक उज्जवल निकम ने अदालत के फैसले के बारें में बताया, जितेंद्र उर्फ पप्पू बाबूलाल शिंदे (26), संतोष गोरखा भवल (30) और नितिन गोपीनाथ भेलुमे (28) को बलात्कार, षड्यंत्र, हत्या और अन्य अपराधों के चलते मृत्युदंड की सजा सुनाई गई.

अहमदनगर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुवर्ण केओले ने 18 नवंबर को तीनों अभियुक्तों को दोषी करार दिया था. हालांकि न्यायाधीश ने दोषियों को बंबई उच्च न्यायालय के समक्ष अपील करने की अनुमति भी दी.

गौरतलब रहें कि 13 जुलाई, 2016 को तीनों लोगों ने अहमदनगर जिले के करजात तालुका के कोपार्डी गांव में 14 साल की किशोरी के साथ दुष्कर्म किया था और उसके बाद उसकी हत्या कर दी थी.

इस मामले में 7 अक्टूबर को अहमदनगर पुलिस ने अदालत में 350 पेजों की चार्जशीट दायर की थी. जी पर आरोपियों के खिलाफ आईपीसी धारा 302 (हत्या), 376 (बलात्कार) और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण के संबंधित खंड (POCSO) अधिनियम के तहत आरोप तय हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles